बुद्ध की धरती पर युद्ध फ़ैलाने वालों को बख्शा नहीं जायेगा : पीएम मोदी





भारत दुनिया भर में शांति का संदेश फैलाने के लिए जाना जाता है। अगर कोई इस देश में नजर दिखाएगा तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 वें अंतरराष्ट्रीय वैसाख दिवस पर कोलंबो में संबोधित करते हुए कहा कि भारत बुद्ध की धरती है और सदा शांति का हिमायती रहा है हमारा देश। pm address srilanka people 

बिहार की पावन धरती बोध गया

पाकिस्तान के द्वारा भारत में आतंकवाद और हिंसा फैलाया जा रहा है। बुद्ध ने जिस प्रकार से शांति का संदेश दुनियाभर में आज फैल रही है वहीं हिंसा का जवाब है। बुद्ध का शांति के संदेश से ही दुनिया भर में शांति लाई जा सकती है। नरेंद्र मोदी ने देश को सौभाग्यशाली बताते हुए कहा कि भारत सौभाग्यशाली है जो दुनिया को बुद्ध और उनके उपदेश जैसे अमूल्य उपहार दिए हैं। जिसे पूरे विश्व को अपनाने की जरूरत है। जिसके लिए भारत सदा आगे रहा है। pm address srilanka people 

भारत विश्व में शांति दूत के रूप में आगे आ रहा है। लेकिन कुछ राष्ट्र अशांति फैलाने में लगे हैं। जिसे हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। जिस प्रकार से पाकिस्तान नफरत की बीज बो रहा है पूरे क्षेत्र में हिंसा फैला रहा है और शांति के लिए बातचीत करने को भी राजी नहीं हैं। वे सिर्फ मौत और विनाश का कार्य कर रहे हैं। pm address srilanka people 

सारनाथ में पहली बार बुद्ध ने अपने उपदेश दिए

आज विश्व में नफरत और हिंसा के विचार में डूबे रहने वालो लोग ही शांति के लिए सबसे बड़ा खतरा है। पाकिस्तान की ओर जिस प्रकार से आतंकवादी गतिविधि की जा रही है यह कोई विवाद नहीं एक खास विचारधारा है। जो शांति के लिए खतरा लिए हुए हैं। प्रधानमंत्री ने बुद्ध के संदेश को एक बार फिर पूरे विश्व में फैलाने की बात कही है। जिसमें वाराणसी भी योगदान देने को तैयार है। pm address srilanka people 

बंटवारे के समय मेरे परिवार को पाकिस्तान चला जाना चाहिए था : ममता बनर्जी

गौरतलब है कि भगवान बुद्ध को जहां बिहार की पावन धरती बोध गया में ज्ञान की प्राप्ति हुई वहीं सारनाथ में पहली बार बुद्ध ने अपने उपदेश दिए जिसे प्लाइट से सीधे श्रीलंका से जोड़ने का ऐलान प्रधानमंत्री ने किया। जिससे की बुद्ध के शांति के उपदेश को और बेहतर तरीके से प्रसारित किया जा सके। pm address srilanka people