पीएम मोदी का जो विरोध करेगा उसको पीट-पीट कर मार दूंगा : इमरान अंसारी





जम्मू कश्मीर विधानसभा में उस समय अजीबोगरीब स्थिति बन गई जब मंत्री ने अपना आपा खोआ और सीधे तौर पर विधायक को मारने की धमकी दे दी। जीएसटी पर बहस के दौरान सत्ता व विपक्ष में हुई नोंक झोंक। पूरे देश में 01 जुलाई से वस्तु एवं सेवाकर यानी जीएसटी लागू हो गई है लेकिन इसे जम्मू कश्मीर को अलग रखा गया है। इस कर पर विधानसभा में चर्चा के दौरान सत्ता और विपक्ष के बीच तीखी बहस हुई। pm modi ka virodh bardasht nahi  

pm modi ka virodh bardasht nahi मुझ जैसे अनेक लोग कुर्बानी दे सकते हैं

इस दौरान चर्चा में भाग लेते हुए नेशनल कांफ्रेंस के नेता देवेंद्र राणा ने जीएसटी का विरोध करते हुए कहा कि उन चीजों पर सहमत होना चाहिए जो प्रदेश और उसकी जनता के लिए अच्छा है। लेकिन जिस तरह से जीएसटी लागू किया गया है वह ठीक नहीं है। इससे जम्मू कश्मीर को प्राप्त विशेष अधिकार खत्म हो जाएंगें। pm modi ka virodh bardasht nahi  




कालाष्टमी की कथा एवं इतिहास

जीएसटी जस का तस लागू होने से प्रदेश को विशेष दर्जे का कोई मतलब नहीं रह जाता है। इसी बहस में सूचना प्रौद्योगिकी तकनीकी शिक्षा और युवा सेवा तथा खेल मंत्री इमरान अंसारी ने देवेंद्र राणा पर दोहरे मानदंड रखने का आरोप लगाया। अंसारी ने कहा कि खुद का व्यवसाय जीएसटी के अनुकूल कर लिया गया और दिखावे के लिए विरोध कर रहे हो। pm modi ka virodh bardasht nahi 

यहां तक कि मंत्री अंसारी ने देवेंद्र राणा के अस्थाई जीएसटी पंजीकरण नंबर भी पढ़ कर सुनाए। आरोप प्रत्यारोप पर देवेंद्र राणा ने जवाब भी दिया और कहा कि वे कोई कर चोरी नहीं किया है। इसपर अंसारी ने आपा खो दिया और कह दिया कि मैं यहां पीट पीटकर तुम्हें मार सकता हूं। मैं तुम्हारे सारे गोरखधंधे जानता हूं। pm modi ka virodh bardasht nahi 

गवर्नर मुझसे माफ़ी मांगे नहीं तो बंगाल में बबाल मचा दूंगी : ममता बनर्जी

तुमने मोबील आयल चोरीकर व्यवसाय शुरू किया औऱ आखिर इतना पैसा आया कहां से। अपने ऊपर लगे आरोपों पर देवेंद्र राणा ने सबका जवाब तो दिया लेकिन आपा नहीं खोया। और कहा कि जम्मू कश्मीर के हितों की सुरक्षा के लिए मुझ जैसे अनेक लोग कुर्बानी दे सकते हैं। गौरतलब है कि नेशनल कांफ्रेस केंद्र सरकार द्वारा लागू जीएसटी का विरोध कर रही है। pm modi ka virodh bardasht nahi 

loading…