शादी वाले घोड़े, युद्ध के मैदान में नहीं चलते




केंद्र सरकार जिस प्रकार से लगातार कार्य कर रही है और संगठन में भी तालमेल बना कर रखी है जिसकी सभी कायल हो गए हैं। पहले कहा जाता था कि दोनों जगह तालमेल बनाना आसान नहीं है। जिसे अब झुठलाया गया है।अटल जी की सरकार में संघ की यह शिकायत रही थी कि संगठन की बातों को ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता है। pm modi rss connection 

संघ में काफी कुछ बदलाव भी आया है

जिसके बाद पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी कहां करते थे कि शादी वाले घोड़े युद्ध के मैदान में नहीं भेजे जाते हैं। संघ को ऐसी बात कहकर उन्हें बैकफुट पर लाया जाता था। लेकिन अब जिस प्रकार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संघ के ऐजेंड़े को भी ध्यान में रखते हुए सरकार नीतियों का भी ख्याल रख रहे हैं इससे कोई असुविधा नहीं हो रही है। संघ भी खुश है कि उसके एजेंडे को लागू किया जा रहा है। सरकार लगातार ऐसी नीतियां अपना रही है जिसका फायदा जनता को मिल रहा है और संघ के एजेंडा भी आगे बढ़ रहा है। pm modi rss connection 

डॉक्टर हैं या यमराज

पिछले सत्तर सालों में संघ के कार्यक्रम भी ज्यादा नहीं हो पा रहे थे अब इनके कई तरह के कार्यक्रम आए दिन होते हैं जैसे गीता महोत्सव, गोपाष्टी कार्यक्रम,सर्वधर्म सम्मेलन आदि आदि। पहले ऐसे कार्यक्रमों में लोग जाते भी कम थे अब ऐसे कार्यक्रम में सेलिब्रिटी भी आते हैं और उनकी नीतियों का समर्थन करते हैं जिससे संघ का एजेंडा भी लागू होता है। खास बात यह है कि ऐसे कार्यक्रम के लिए ऊपर से साफ तौर पर निर्देश भी मिलते हैं। सरकार ने जिस प्रकार से तालमेल बनाया है इससे संघ में काफी कुछ बदलाव भी आया है और कई तरह की नीतियों को लागू भी किया है। अब तो यही कहा जा रहा है कि शादी वाले घोड़े युद्ध के मैदान में भी दहाड़ रहे हैं और जंग भी जीत रहे हैं। pm modi rss connection