POK में ब्लैक डे पर लगे मोदी मोदी के नारे

pok balck day पाकिस्तान कभी नहीं सुधरेगा। कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आयोजित किये गए काला दिवस को कुचलने के लिए पाकिस्तानी सेना ने जबरदस्त बल प्रयोग किया

एक तरफ जहां शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे लोगो को हिरासत में लिया गया और उन पर लाठिया बरसाई गयी वहीँ दूसरी ओर प्रदर्शन संबंधी खबरों को रोकने के लिए प्रेस पर प्रतिबन्ध भी लगाया गया।pok balck day

२२ अक्टूबर १९४७ को जम्मू कश्मीर में पाकिस्तान की घुसपैठ के खिलाफ यह ब्लैक डे आयोजित किया गया था। इस दौरान पी ओ के ,के कई हिस्सो मसलन भीमबेर, कोटली, मुजफराबाद, मीरपुर में तो हजारो लोग सड़को पर उतरे थे।pok balck day

पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था। तब अपने खिलाफ हो रहे अत्याचारो से पीड़ित जम्मू कश्मीर नेशनल स्टूडेंट फेडरेशन (एन एस ऍफ़) के सदस्यो भारतीय सीमा में दाखिल होने की कोशिश की थी।pok balck day

पाक अपने नापाक हरकत से बाज नहीं आ रहा हैं।

ब्लैक डे के बारे में यूनाइटेड कश्मीर पीपल्स नेशनल पार्टी के लीडर जमील मसूद का कहना हैं की यह दिन काफी महत्वपूर्ण हैं। २२ अक्टूबर १९४७ को पकिस्तान ने अपनी सेना और कबाइलियों को भेज कर समझौते का उलंघन किया था। इस दिन को काले दिवस के रूप में मनाया जता हैं।pok balck day

एन एस ऍफ़ के नेता ने कहा हैं की हमे आज़ादी चाहिए। पाकिस्तान यहाँ से अपनी सेना हटाए पूरी तरह से क्योंकि हम इसे अब और ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर सकते। pok balck day

पाकिस्तान श्रीनगर और दिल्ली के बारे में बात करता हैं पहले वह अपने खुद के घर में तो झाँक ले फिर बात करें।

सबसे पहले तो उसे आतंकवादियों से निपटना चाहिए। उसी की वजह से साड़ी समस्या हैं। pok balck day
पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री जहाँ कहीँ भी जाते हैं आर्मी चीफ राहील शरीफ उनका साया बन के उनके साथ जाते।

अब पाकिस्तान बड़ी मुश्किल में फंस चुका हैं पाक की नापाक हरकतों से सब वाकिफ हैं। पर फिर भी पाक बाज नहीं आ रह हैं। उसकी मनमानी, गुंडागर्दी से अब उसके अपने, करीबी कहे जाने वाले भी पीड़ित हैं। pok balck day