पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर भारत में मिलने को तैयार !




पाकिस्तान भले ही कश्मीर में दंगा फ़ैलाने की कोशिश कर रहा हो, परन्तु पाकिस्तान खुद आज आग की लपेट में कैद है। पाकिस्तान कश्मीर को लेकर देश-दुनिया में ढोल पीट रहा है, लेकिन पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर अब भारत में विलय के लिए तैयार है। pok wants freedom 

आज इस संदर्भ में आजाद कश्मीर में पाकिस्तन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी हुआ। ये लोग की मांग है की आजाद कश्मीर को पाकिस्तान आजाद करें। आजाद कश्मीर भारत का हिस्सा है। अतः इसे भारत में होना चाहिए। पाकिस्तान से खुद का घर सम्भलता नहीं है, और कश्मीर को सम्भालने की बात करता है।

पाकिस्तान में स्थित कश्मीर में आज भी लोग आजादी की मांग करते है। आजाद कश्मीर के लोग चाहते है की पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर भारत का हिस्सा बन जाए, कुछ ऐसा ही माहौल पाकिस्तान स्थित बूलचिस्तान का है। जंहा आज न कल बहुत बड़ी क्रांति होने वाली है, जो पाकिस्तान को तबाह कर सकता है। pok wants freedom

मुसलमानों में मोदी का बढ़ता क्रेज़

भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने पत्रकारों को बताया कि निकट भविष्य में भारत के साथ किसी भी प्रकार की बातचीत सम्भव नहीं है। कश्मीर को लेकर भारत का रुख शत्रुता को प्रदर्शित करता है। भारत नहीं चाहता है की कश्मीर में शांति बहाल हो। pok wants freedom

आपके बता दें की दोनों देशों के बीच राजनितिक रूप से बयान बाजी चल रही है। कश्मीर में बुरहान वाणी की मौत के बाद पाकिस्तान लगातार कश्मीर में जनमत संग्रह कराने की बात कर रहा है।नवाज शरीफ के इसी बयान पर टिपण्णी करते हुए, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा था की कश्मीर कयामत आने तक पाकिस्तान का नही होगा। शरीफ सपने देखना बन्द करें। pok wants freedom

शरीफ सपने देखना बन्द करें pok wants freedom 

सुषमा स्वराज के बयान से पुरे पाकिस्तान में रोष है। पाकिस्तान के विदेश सचिव के सलाहकार सरताज अजीज ने कहा की इसका फैसला कश्मीरी करेंगे। वैसे पाकिस्तान इस ताक में है की कश्मीर में फिर से जनमत संग्रह हो जाए।

ज्ञात हो की 1947 के बाद इस तरह का ही मुद्दा पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र संघ में उठाया था। जो बिना नतीजे के समाप्त हो गई थी। घाटी में घुसपैठ के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच जंग छिड़ गया था। pok wants freedom

उस वक्त संयुक्त राष्ट्र संघ ने देशों के बीच कश्मीर में सीमा रेखा खींच दी थी। आज पाकिस्तान भारत में स्थित कश्मीर के लिए बाप-बाप कर रहा है। जबकि ये भारत का अंग है। ऐसे में पाकिस्तान का जनमत संग्रह कराने की बात बेबुनियाद है। pok wants freedom

( प्रवीण कुमार )