मोदी जी ने देश के सभी नेताओं का जीना हराम कर दिया है : ज्योतिरादित्य सिंधिया




कांग्रेस किसी भी हालत में मंदसौर मुद्दे को हाथ से निकलना नहीं देना चाहती है यही कारण है कि पार्टी के बड़े नेता लगातार मदंसौर के दौर पर हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को मदंसौर जाते वक्त गिरफ्तार कर लिया गया। ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने समर्थकों के साथ मंदसौर के लिए रवाना हुए वहां जाते वक्त उन्होंने पुलिस को खूब छकाया। जब पुलिस उन्हें रोकने की कोशिश की तो वे खेत के रास्ते को अपनाया। लेकिन वे पुलिस से पार नहीं पा सके। उनके और उनके समर्थकों को माननखेड़ा टोल बैरियर पर प्रशासन ने रोककर उन्हें हिरासत में ले लिया। police versus jyotirao sindhiya 

जदयू नेता शरद यादव भी मंदसौर गए

सिंधिया के साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सांसद कांतिलाल भूरिया भी मौजूद थे वे बैरियर धकेलने का प्रयास किया लेकिन उन्हें सफलता हासिल नहीं हुई। उनकी प्रशासन से बहस भी हुई। वो इस वक्त मंदसौर की खेतो में दौड़ लगा दी। इस पर पुलिस ने गिरफ्तर कर लिया तो कांग्रेस के नेता व्रज वाहन पर ही चढ़ गए। police versus jyotirao sindhiya 

ज्योतिरादित्य सिंधिया

गौरतलब है कि इसके पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी वहां गए थे जिन्हें पुलिस ने रोक दिया। जिसको लेकर पुलिस से नोंक-झोंक भी हुई। उसके बाद राहुल गांधी ने सरकार पर निशाना साधा। लेकिन पुलिस ने उन्हें गेस्ट हाउस में रखा लेकिन वे अड़े रहे कि उन्हें पुलिस फायरिंग में मौत हुई किसानों के परिवारों से बात कराई गई तब जाकर राहुल गांधी वहां से लौटे। police versus jyotirao sindhiya 

नानी गांव से लौटने के बाद देश को बीजेपी मुक्त बनाऊंगा : राहुल गाँधी

कांग्रेस किसी भी हालत में इस मुद्दे को हाथ से निकलना नहीं देना चाहती है जिसको लेकर प्रदेश में लगातार आंदोलन कर रही है। ज्योतिरादित्य सिंधिया इसी कड़ी में मंदसौर जाकर किसानों से मिलने का मन बनाया था। मंदसौर पर कानून व्यवस्था को लेकर किसी भी नेता को वहां जाने नहीं दिया जा रहा है। इसके पहले स्वराज पार्टी के नेतागण योगेंद्र यादव, आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह और जदयू नेता शरद यादव भी मंदसौर गए लेकिन वहां उनको पहले ही रोककर वापस भेज दिया गया। police versus jyotirao sindhiya