कांग्रेस भले ही बेईमान हो पर राष्ट्रपति ईमानदार दिया है : पीएम मोदी




अक्सर ऐसा कहा जाता है कि राजनीति में रिश्तों का कोई मोल नहीं होता है। लेकिन जिस प्रकार से प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपति के बारे बातें कहीं इससे लोगों को काफी आश्चर्य हुआ क्योंकि दोनों अलग अलग दल से जुड़े हैं। pranav daa mere pita saman hai 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के साथ संबंधों को जिस तरह से ऱखा वह आश्चर्य करने वाला है। नरेंद्र मोदी ने कहा कि प्रणव मुखर्जी पिता समान हैं। और वे लगातार उनका ख्याल रखा। निश्चिततौर पर उनसे एक भावनात्मक लगाव है। गौरतलब है कि प्रेसीडेंट प्रणव मुखर्जी ए स्टेटसमैन एंड द राष्ट्रपति भवन के लोकार्पण के अवसर पर प्रधानमंत्री ने यह कहा। pranav daa mere pita saman hai 




pranav daa mere pita saman hai प्रधानमंत्री और सरकार के साथ सहयोग की चर्चा राष्ट्रपति ने भी की

उन्होंने कहा क पिछले तीन वर्षों में ऐसी कोई मुलाकात नहीं रही जब राष्ट्रपति ने उसके साथ अपने बेटे जैसा बर्ताव नहीं किया हो। राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से रिश्ते को बताते बताते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भावुक हो गए उन्होंने कहा कि इन तीन वर्षों में कई कठिनाइयां आईं। लेकिन राष्ट्रपति जी ने सबका बहुत अच्छे ढ़ंग से सबका निपटारा किया। और यही कारण है कि विगत तीन वर्षों में अब हम सेट हो गए हैं। pranav daa mere pita saman hai 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रपति जी के बारे में बोलते हुए उनका गला रुंध गया। प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्ट्रपति जी के बारे में जो कहा वह उनके कद को कई गुणा बढ़ा देता है। राष्ट्रपति ने उनका लगातार स्वास्थ्य के प्रति सजग होने को कहा। जब प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश के चुनाव के दौरान लगातार रैलियां कर रहे थे। तो उन्होंने कहा कि हार जीत लगी रहती है लेकिन अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। pranav daa mere pita saman hai 

जानिए डेंगू से बचने के घरेलु नुस्खा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस खास मौके पर यह भी बताया कि गुजरात से दिल्ली की राजनीति में स्थापित करने में कैसे प्रणव मुखर्जी ने उनकी मदद की। प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे बड़ा सौभाग्य रहा कि प्रणव मुखर्जी की अंगुली पकड़कर दिल्ली में सेट करने में मदद की।

pranav daa mere pita saman hai 

पीएम मोदी की खातिर इजरायल ने दिया चीन को धोखा

गौरतलब है कि राष्ट्रपति का कार्यकाल समाप्त हो रहा है यही कारण है कि उनके बीच के रिश्ते को सुनाते सुनाते भावुक हो गए। प्रधानमंत्री और सरकार के साथ सहयोग की चर्चा राष्ट्रपति ने भी की। और चर्चा करते हुए कहा कि कोई भी कार्य में कभी देरी नहीं हुई।

loading…