प्रशांत किशोर होंगे गुजरात के अगले मुख्यमंत्री : राहुल गाँधी




पांच राज्यों में विधान सभा चुनाव के बाद कांग्रेस का जो हाल हुआ है। उससे पूरा विपक्ष हताश और निराश है। निराशा इस कदर है कि कांग्रेस अब गुजरात चुनाव को लेकर कोई तयारी सार्वजानिक करने के मूड में नहीं है। सूत्रों की माने तो उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की हार का मुख्य कारण पीके की बात को नहीं मानना रहा है। prashant kishor will next gujrat cm 

बता दें कि कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर पूर्व से यूपी में चमत्कार के लिए राहुल गाँधी को आगे आने की बात कर रहे थे लेकिन कांग्रेस के नेता इससे सहमत नहीं थे। राहुल गाँधी भी पीके की बात से सहमत नहीं हुए । कुछ जानकारों की माने तो उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने पीके की बातों पर गौर नहीं किया। जिस कारण यूपी में कांग्रेस को सबसे बड़ी हार मिली। prashant kishor will next gujrat cm 

गौरतलब है कि पीके राहुल गाँधी या प्रियंका गाँधी को सीएम उम्मीदवार बनाना चाहते थे लेकिन कांग्रेस ने इस पर सहमति नहीं जताई। राहुल गाँधी ने भी पीके के इस प्रस्ताव को पीएम पद के लिए ठुकरा दिया। नतीजा जाति आधारित नेता चुना गया। जिसमें शीला दीक्षित को कांग्रेस का सीएम उम्मीदवार बनाया गया लेकिन विचारणीय तथ्य ये रहा। जब शीला दीक्षित को सीएम उम्मीदवार बनाया गया तो फिर अंत समय में राहुल ने अखिलेश से क्यों हाथ मिलाया और जब राहुल गाँधी का देवरिया टू दिल्ली रोड यात्रा सफल रही तो फिर ऐसी क्या जरुरत पड़ी जो अखिलेश को कांग्रेस ने सीएम उम्मीदवार चुन लिया। जबकि शीला दीक्षित को पहले से सीएम उम्मीदवार चुना गया था। prashant kishor will next gujrat cm 

पीके तुरुप का पत्ता है

वही दलित और पिछड़े वर्ग को लेकर भी कांग्रेस ने पीके की बात नहीं मानी। जिसका खामियाजा कांग्रेस को भुगतना पड़ा। राजनैतिक पंडितों की माने तो देश में बीजेपी लहर है लेकिन विपक्षियों का ये कर्तव्य है कि वो पीएम मोदी को चुनौती पेश करे। जैसा की बिहार में नितीश कुमार ने 2015 के चुनाव में की थी। यदि कांग्रेस ऐसा करने में विफल रहती है तो वो दिन दूर नहीं है। जब कांग्रेस मुक्त भारत चरितार्थ साबित होगा। prashant kishor will next gujrat cm 

ज्ञात रहे कि पांच राज्यों के विधान सभा चुनाव में अपार सफलता से बीजेपी अभिभूत हो चुकी है और वो जल्द से जल्द गुजरात में विधान सभा चुनाव की उम्मीद में है। जिसकी शुरुआत बीजेपी ने पीएम मोदी के नेतृत्व में कर दी है। हालांकि, पीएम मोदी ने सख्त निर्देश दिया है कि बीजेपी के सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं को यूपी जीत से इतराने की जरुरत नहीं है। वो अपनी लगन और मेहनत गुजरात चुनाव में भी करे। prashant kishor will next gujrat cm 

तुम मुझे वोट दो मैं तुम्हे भिखारी बनाऊंगा : केजरीवाल

वही कांग्रेस अब फुक फुक कर आगे बढ़ रही है। कांग्रेस किसी चमत्कार की फ़िराक में है। जो उसे पुनः राजनीति गलियारे में वापस लौटा सके। ऐसे में कांग्रेस फिर से पीके की सेवा और सलाह लेना जरूर चाहेगी लेकिन इस बार पीके किसी भी गफलत में नहीं रहेगी। सूत्रों की माने तो पीके गुजरात चुनाव के लिए कांग्रेस से बड़ी कीमत वसूल सकती है। इस बड़ी कीमत में सीएम का सीट भी हो सकता है क्योंकि पीके वो तुरुप का पत्ता है। जिसने 2012 में पीएम मोदी को गुजरात चुनाव में अपार सफलता दिलाई थी। जिस कारण मोदी गुजरात में तीसरी बार सीएम बन पाए थे। जबकि बिहार में नितीश कुमार को तीसरी बात सीएम बनाने में भी पीके का ही हाथ है। ऐसे में गुजरात चुनाव में कांग्रेस केवल और केवल पीके पर निर्भर है। prashant kishor will next gujrat cm 
( प्रवीण कुमार )