राहुल गाँधी ने मेरे साथ गद्दारी की है : नवजोत सिद्धू




कभी भाजपा से सांसद रहे पंजाब सरकार में मंत्री क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू अपने महकमे से संतुष्ट नहीं हैं। अपनी शिकायत को लेकर मुख्यमंत्री के पास जा रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू के तेवर से कई तरह के कयास लगाए जाने लगे हैं। स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू अपने विभाग से संतुष्ट नहीं हैं। उनको लगता है कि मुख्यमंत्री ने मलाईदार विभाग अपने पास रख लिया है। rahul gandhi ne mere sath gaddari ki hai 

अगर थोड़ी बहुत भी अनबन कांग्रेस से हुई तो वे घर वापसी कर सकते हैं

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा है कि स्थानीय निकाय के साथ साथ हाउसिंग एवं शहरी विकास विभाग भी उनके पास होने चाहिए थी। इसके लिए मुख्यमंत्री से गुहार लगाया है। सिद्धू ने अपने मन की बात स्थानीय निकाय विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक के बाद कही। rahul gandhi ne mere sath gaddari ki hai 

उन्होंने कहा है कि कैप्टन साहब से अऩुरोध किया है कि इन दोनों विभागों के एक साथ मिला दिया जाए। क्योंकि केंद्र में यह दोनों विभाग एक ही मंत्रालय के अधिन कार्य कर रहा है। यह अलग बात है कि राज्यों में अपनी अपनी सहूलियत के हिसाब से इन्हें अलग अलग कर दिया गया है। पंजाब में जहां स्थानीय निकाय सिद्धू के पास है। rahul gandhi ne mere sath gaddari ki hai 

नवजोत सिंह सिद्धू इसके पहले भाजपा के सांसद रहे हैं

वहीं शहरी विकास मंत्रालय खुद मुख्यमंत्री ने अपने पास रख लिया है। सिद्धू ने बताया कि मुख्यमंत्री ने इस विषय पर विचार करने का भरोसा दिया है। गौरतलब है कि नवजोत सिंह सिद्धू ने जिस तरह से मांग की है ऐसा समझा जा रहा है कि वे अपने मंत्रालय से संतुष्ट नहीं है। rahul gandhi ne mere sath gaddari ki hai 

बीजेपी और आरएसएस वालों ने मेरा बुर्का चुरा लिया है : शेहला रशीद

नवजोत सिंह सिद्धू इसके पहले भाजपा के सांसद रहे हैं और उनके पक्ष में आज भी भाजपा के बड़े नेता हैं। वही भाजपा के सहयोगी दल अकाली दल से उनका छत्तीस का आंकड़ा हुआ जिसके कारण उन्होंने भाजपा को ही छोड़ दिया। अब ऐसा माना जा रहा है कि अगर थोड़ी बहुत भी अनबन कांग्रेस से हुई तो वे घर वापसी कर सकते हैं। rahul gandhi ne mere sath gaddari ki hai