गाँधी हत्या बयान पर राहुल गाँधी ने आरएसएस से मांगी माफ़ी




महात्मा गाँधी की हत्या को लेकर दिये गये बयान से आज राहुल गाँधी मुकर गए। कांग्रेस सुप्रीमो राहुल गाँधी ने कहा कि मैंने कभी नहीं कहा कि आरएसएस या किसी संगठन ने गाँधी जी को मारा है।ज्ञात हो की राहुल गाँधी ने 2014 में मुम्बई के ठाणे में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा था कि आरएसएस ने महात्मा गाँधी की हत्या की थी। राहुल गाँधी के इस बयान के लिए आरएसएस ने राहुल गाँधी पर मानहानि का मुकदमा दायर की थी। rahul gandhi said rss sorry 

केस की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 19 जुलाई को राहुल गाँधी को आदेश दिया था कि वो अपने दिये गये बयान के लिए आरएसएस से माफ़ी मांग लें, यदि वो माफ़ी नहीं मांगते है तो करवाई के लिए तैयार रहे।

1 सितम्बर को दोनों पक्षों के बीच समझौता हो सकता है

इसी सम्बन्ध में आज सुप्रीम कोर्ट सुनवाई हुई, इस सुनवाई के दौरान राहुल गाँधी अपने दिये गए बयान से मुकर गये। राहुल गाँधी का मुकरना का तात्पर्य है कि राहुल गाँधी ने आरएसएस से मन ही मन में माफ़ी मांग ली है क्योंकि यदि राहुल गाँधी माफ़ी नहीं मांगते है तो उन पर करवाई हो सकती है। इस बाबत आज राहुल गाँधी ने अपने बयानों को बदलकर अदालत के समक्ष प्रस्तुत किया है। rahul gandhi said rss sorry 

कांग्रेस का पाकिस्तान प्रेम बरकरार, वोट के लिए कुछ भी कर सकती है

राहुल गाँधी के बयान के बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को ख़त्म करने की सलाह दी है किन्तु आरएसएस के वकील यु. आर. ललित ने अदालत से अपने मुवक्किल से विचार-विमर्श हेतु थोड़ा वक्त माँगा, जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया। अदालत ने इस मामले की अगली तारीख 1 सितम्बर तय की है। rahul gandhi said rss sorry 

1 सितम्बर को दोनों पक्षों के बीच समझौता हो सकता है। राहुल गाँधी के बदले मिजाज से ऐसा प्रतीत होता है कि राहुल गाँधी मौके को भांप गये और समय रहते आरएसएस से माफ़ी मांग ली अन्यथा राहुल गाँधी अपने बयान के लिए और मुश्किलों का सामना करना पड़ता।  rahul gandhi said rss sorry 
( प्रवीण कुमार )