साजिश रच रहे थे राहुल गाँधी




राहुल गाँधी यानि की बाबा, यानि की पप्पू जी कई तरह के नामो से इन्हे सम्बोधित किया जाता है। एक बार फिर सुर्ख़ियों में है। इस बार इन्होने पीएम मोदी को निशाना नहीं बनाया है। जबकि इस बार इन्होने देश को दांव पर लगाया है। जिस एवज में बाबा सुर्ख़ियों में है। राहुल बाबा के बयान पर ही उनकी पार्टी ने पलटी मार ली है। rahul gandhi sajish rach rahe tha 

कांग्रेस देश के भविष्य को लेकर सचेत नहीं रहती है।

आपको बता दें कि राहुल गाँधी देश के विरुद्ध जाकर राजनीति करने पर अब तूल गए है। मीडिया में पहले ये खबर थी कि राहुल गाँधी चीनी राजदूत से गुपचुप तरीके से मिले है। इस खबर को फैलने में ज्यादा वक्त नहीं लगा और ये खबर सनसनी की तरह पुरे देश में फ़ैल गयी। जंहा एक ओर भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव जैसा माहौल है। rahul gandhi sajish rach rahe tha

बरसात में टमाटर खाने से हो सकता है पथरी की शिकायत

वही देश के राजनयिक षड्यंत्र के तहत चीन के राजदूत से मिलते है। ये कतई देश हित में नहीं है। हालाँकि शुरुवात में मीडिया के ख़बरों का कांग्रेस और स्वंय राहुल गाँधी ने खंडन करते हुए कहा कि वे चीनी राजदूत से नहीं मिले है किन्तु जब बात सनसनी की तरह फ़ैल गयी और आधिकारिक तौर पर पुष्टि हो गयी तो कांग्रेस ने पलटी मार ली।  कांग्रेस ने पलटी मारते हुए इसे छोटी सी मुलाकात की संज्ञा दी। rahul gandhi sajish rach rahe tha

सुषमा ने कहा पाकिस्तान मानवता की बात न करें क्योंकि वो तो शैतानो से भी बढ़कर है

विदित रहे कि 2008 में मुंबई ब्लास्ट के पूर्व कांग्रेस के उच्चायुक्त पाक में रंगरलिया मना रहे थे। इस बात से साफ़ जाहिर होता है कि कांग्रेस देश के भविष्य को लेकर सचेत नहीं रहती है। जबकि कांग्रेस का एकत्व प्रभुत्व देश पर 60 साल तक रहा है। ऐसे में फैसला देश की जनता को करना है कि क्या कांग्रेस जैसी घटिया राजनीति करने वाली पार्टी का साथ देना चाहिए ? rahul gandhi sajish rach rahe tha

loading…