राम मंदिर निर्माण के लिए जेल क्या शूली भी चढ़ जाउंगी : उमा भारती




राम मंदिर निर्माण आंदोलन में अग्रणी भूमिका में रही उमा भारती का कहना है कि यहां कोई साजिश नहीं थी बल्कि यह एक आंदोलन था। केंद्रीय मंत्री उमा भारती सीबीआई अदालत में पेश होने के लिए लखनऊ पहुंची। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से बाबरी मस्जिद गिराया गया कोई पहले से तय नहीं था ना ही कोई साजिश थी। यह खुला आंदोलन था जैसे आपातकाल के खिलाफ हुआ था। उमा भारती ने कहा कि मैं खुद को अपराधी महसूस नहीं करती बल्कि मुझे गर्व है। यह केस भगवान से जुड़ा है। ram mandir ka nirman krke rahenge 

मुख्यमंत्री रहे कल्याण सिंह पर कार्रवाई नहीं होगी

गौरतलब है कि 1992 में अय़ोध्या स्थित बाबरी मस्जिद गिराए जाने के मामले में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी पर आरोप लगे हैं जिसपर उच्चतम न्यायालय ने आपराधिक साजिश का मामला चलाए जाने का आदेश दिया था। गौरतलब है कि जब अयोध्या आंदोलन चल रहा था पूरा देश आंदोलित था और जिसमें भाजपा के सभी बड़े नेता इसमें संलग्न थे। ram mandir ka nirman krke rahenge 

उमा भारती पुनः भाजपा में शामिल हुई

जिसमें बडे नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती जैसे नेता लगातार अपने भाषणों में जय श्री राम के साथ मंदिर वहीं बनाएंगें के नारे लगाते रहे हैं। साथ ही भीड़ में एक धक्का और दो बाबरी मस्जिद तोड़ दो जैसे नारे लगते रहे हैं। ram mandir ka nirman krke rahenge 

अरुंधति राय पर परेश रावल का ट्वीट निंदनीय है : केजरीवाल

उमा भारती पर अगर आरोप तय होते हैं तो उनको मंत्री पद से हाथ धोना पड़ेगा। इसके पहले भी जब वे मुख्यमंत्री बनी थी उस समय भी कर्नाटक में एक केस के मामले में उन्हें इस्तीफा देना पड़ा उसके बाद वे भाजपा में विवाद बढ़ने के साथ ही पार्टी छोड़ दी और अलग पार्टी बनाई लेकिन वे ज्यादा सफल नहीं हो पाई। उसके बाद उमा भारती पुनः भाजपा में शामिल हुई लेकिन अपने गृह मध्यप्रदेश से दूर रही और उत्तर प्रदेश में ही कार्यस्थली बनाई हैं। ram mandir ka nirman krke rahenge 

अब जब एक बार अयोध्या मसला उठा है वे चर्चा में हैं और वे सन्यासी के अंदाज में ही कह डाली हैं कि वे सब कुछ भगवान पर छोड़ती हैं। इसी मामले में उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री रहे कल्याण सिंह पर कार्रवाई नहीं होगी क्योंकि वे राज्यपाल के संवैधानिक पद पर हैं। ram mandir ka nirman krke rahenge