राम मंदिर निर्माण vs बाबरी मस्जिद विध्वंस केस




राम मंदिर निर्माण वर्सेस बाबरी मस्जिद विध्वंस केस लेकर लोगों की नजर टिकी हुई है। आखिर क्या फैसला होता है। अब जबकि वरिष्ठ नेताओं पर आपराधिक केस चलाने का आदेश दिया है। उच्चतम न्यायालय ने बाबरी विध्वंस केस मामले में बड़े फैसले दिए हैं जिसके अनुसार पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, पूर्व मानव संसाधन मंत्री मुरली मनोहर जोशी, और केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती समेत सभी आरोपियों पर आपराधियों साजिश चलेगा।न्यायालय ने एक महत्वपूर्ण आदेश दिया है कि दो केस जो अलग अलग चल रहे हैं इसे एक साथ ही चलाया जाएगा। ram mandir versus babri masjid 

मुस्लिम संगठनों ने विरोध किया

गौरतलब है कि रायबरेली में अलग से केस चल रहा है दोनों को क्लब कर लखनऊ में ही चलाया जाएगा। उच्चतम न्यायालय का फैसला ऐसे समय में आया है जब देश में राष्ट्रपति पद को लेकर कई नाम आगे आ रहे हैं। जिसमें लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का नाम भी चल रहा है। अगर आपराधिक मामले इन वरिष्ठ नेताओं पर चलेगें तो तय है कि राष्ट्रपति पद के लिए अयोग्य हो जाऐगें। वहीं उमा भारती पर केस चलाया जाएगा जिसको लेकर अब राजनीति तेज हो गई है। ram mandir versus babri masjid 

वहीं कल्याण सिंह पर केस नहीं चलेगा क्योंकि वे राज्यपाल के पद को सुशोभित कर रहे हैं। विपक्ष यह मांग कर रहा है कि कल्याण सिंह को भी पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। उच्चतम न्यायालय में सीबीआई ने दलील दी थी कि बाबरी मस्जिद केस में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत तेरह अन्य भाजपा नेताओं के खिलाफ आपराधिक साजिश का केस चलना चाहिए। पहले इस केस को तकनीकी आधार पर रद्द कर दिया गया था जिसे उच्चतम न्यायालय में अपील दायर की गई थी। ram mandir versus babri masjid 

स्वामी ने कश्मीर मुद्दे पर दिया बड़ा बयान कहा खाली कराओ फिर सुलझेगा मसला

इस हाई प्रोफाइल केस में लखनऊ में कार सेवकों के खिलाफ केस लंबित है तो रायबरेली में भाजपा नेताओं के खिलाफ केस चल रहा है अब इसे मिलाकर दिया गया है और एक ही जगह लखनऊ में केस चलेगा। गौरतलब है कि राम मंदिर को लेकर न्यायालय ने यह कहा है कि इस पर आपसी सहमति पर हल किया जाना चाहिए। जिसको लेकर मुस्लिम संगठनों ने विरोध किया। अब जब आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी पर आपराधिक मामले दर्ज होंगे तय है कि राजनीति भी इसपर तेज होगी जिसे भाजपा अपने ओर करने की पूरी कोशिश करेगी। ram mandir versus babri masjid