सुधर जाओ सऊदी के मुसलमानों नहीं तो मक्का को कब्र में दफना दूंगा !




इस्लाम के पवित्र स्थल पर आतंकी हमले किए गए हैं। आतंकी के इरादे को पुलिस ने नाकाम कर दिया है। सऊदी अरब के पवित्र स्थल मक्का पर आतंकियों की नजर है। रमजान महीने के आखिर में आतंकी हमले हुए जिसमें सैनिक सहित नौ लोगों की मौत हो गई। हालांकि मक्का की मस्जिद अल हराम में जब आतंकी साजिश में सफल नहीं हुए तो आत्मघाती विस्फोट कर दिया। saudi arabia police arrested people 

जिस प्रकार से पवित्र स्थल पर हमले की साजिश हुई इसकी जितनी भर्त्सना की जाए कम है। गृह मंत्रालय लगातार छापेमारी कर रही है। लेकिन यह तय है कि जिस प्रकार से आतंकियों ने मस्जिद का निशाना बनाना शुरू किया है। सऊदी अरब अतिरूढ़िवादी सुन्नी बहुल देश है। सऊदी वर्षों से अलकायदा के उग्रवाद का सामना कर रहा है। saudi arabia police arrested people 

 यह सिया सुन्नी की वर्चस्व की आपसी खिंचातानी का नतीजा है।

सऊदी में इस्लामिक स्टेट समूह की स्थानीय शाखा के हमलों का सामना किया है। सऊदी गृह मंत्रालय ने कहा है कि आंतकी नेटवर्क की साजिश नाकाम कर दिया गया है। जिसका उद्देश्य अल हराम की सुरक्षा को निशाना बनाकर दहशत फैलाना था। साजिश का उद्देश्य देश की सुरक्षा और स्थिरता को नष्ट करना था। saudi arabia police arrested people 

गौरतलब है कि सऊदी अरब अभी हाल ही कतर पर प्रतिबंध लगा दिया है जिसके चलते भी सऊदी पर खतरे बढ़े हैं। दरअसल कतर से लड़ाई का कारण है सुन्नियों और शियाओं को एकजुट करना जिसे सऊदी पसंद नहीं कर रहा है। सऊदी परिवार लगातार शियाओँ को बदनाम करने की कोशिश करती रही। यहां कई जनजाति हैं जो जरूरत पड़ने पर कतर का साथ दे सकती है। saudi arabia police arrested people 

मोदी चतुर बनिया है वो देश को बेच खाएंगे : KRK

जिसको लेकर भी सऊदी पर खतरा है। सऊदी अरब कतर पर इसलिए भी प्रतिबंध लगाया है क्योंकि वह ईरान से संबंध बढ़ा रहा है और ब्रदरहुड का समर्थन कर रहा है। सऊदी अरब निश्चिततौर पर जिस तरह से हमले हुए हैं इसके लिए वह कतर जैसे राष्ट्र को दोषी ठहराएगा। हालांकि अभी जो हमले हुए हैं इससे साफ है कि यह सिया सुन्नी की वर्चस्व की आपसी खिंचातानी का नतीजा है। saudi arabia police arrested people