मोदी की खातिर सऊदी अरब ने ट्रम्प के सामने की नवाज़ शरीफ की बेइज्जती




पाकिस्तान को वैश्विक स्तर पर लगातार किनारा किया जाने लगा है। अब अमेरिका भी उसे ज्यादा तरजीह देने को तैयार नहीं है। पाकिस्तान प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को इस्लामिक शिखर सम्मेलन में जहां अपने विचार रखने नहीं दिए गए वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति ने उनसे किनारा कर लिया। sharif ki beijajati 

आतंकवादी ठिकानों को नष्ट करने की जरूरत है

यह इस्लामिक शिखर सम्मेलन सऊदी अरब में हो रहा था। जिसमें भाग लेने नवाज शरीफ भी पहुंचे और पूरी तैयारी के साथ पहुंचे। लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सहित कई और देशों के नेताओं ने अपने विचार रखें लेकिन नवाज शरीफ को मौका नहीं दिया गया। sharif ki beijajati 

जिस प्रकार से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इनकी ओर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जिससे यह कहा जा रहा है कि पाकिस्तान की काफी बेइज्जती हुई है। पहले ही विपक्ष के निशाने पर नवाज शरीफ हैं। जहां उन्हें कुलभूषण जाधव के मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय न्यायालय से करारा जवाब मिला है। sharif ki beijajati 

डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को निशाना बनाते हुए कहा भी कि अपने धरती पर आतंकवाद को पनपने न दें। भारत को आतंकवाद से प्रभावित देश करार भी कहा। जिसके लिए पड़ोस ही जिम्मेवार है यह स्वाभाविक है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने सीधे तौर पर चेतावनी भी दे डाली है कि अगर अपने धरती पर आतंकवाद पनपने देंगे तो इसके लिए अमेरिकी कार्रवाई करेगी। sharif ki beijajati 

भारत में भी आतंकवाद न फैलाएं

गौरतलब है कि भारत लगातार यह अमेरिका और विश्व समुदाय से कहता रहा है कि पाकिस्तान को आतंकवादी देश घोषित किया जाए। इसके लिए विश्व के सामने कई सबूत भी पेश किए। लेकिन पाकिस्तान बाज नहीं आ रहा है। अब जब अमेरिकी राष्ट्रपति ने साफ साफ आतंकवादी देशों को चेतावनी दे ही ऐसे में पाकिस्तान भी निशाने पर है। sharif ki beijajati 

मैं जब तक दोबारा सीएम नहीं बन जाती हूँ तब तक नहीं मरूंगी : मायावती

जिस प्रकार से डोनाल्ड ट्रंप ने नवाज शरीफ के सामने यह कहा तो पाकिस्तान को समझा दिया कि भारत में भी आतंकवाद न फैलाएं। पाकिस्तान को ऐसे कोई आतंकवादी ठिकानों को नष्ट करने की जरूरत है। सम्मेलन में पाकिस्तान को अपनी बात भी कहने नहीं दिया गया इससे स्पष्ट हो गया कि अब उसे किनारा किया जाने लगा है। sharif ki beijajati