शिक्षामित्रों के लिए खुशखबरी




हाई कोर्ट ने नए साल के मौके पर उत्तर प्रदेश के शिक्षा मित्रों के लिए बड़ी खुशखबरी दी है। इस मौके पर हाई कोर्ट ने बेसिक शिक्षा विभाग को ऐसे शिक्षामित्रों को नियुक्ति करने का आदेश दिया है जिन्होंने दूरस्थ माध्यम से बीटीसी का प्रशिक्षण प्राप्त किया है और भर्ती प्रक्रिया में शामिल हुए थे। shiksha mitron ke liye khushkhabri

शिक्षामित्रों को नियुक्त नहीं किया था।

इससे पहले बेसिक शिक्षा विभाग ने काउंसलिंग में दूरस्थ माध्यम से प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले शिक्षामित्रों को शामिल करने से इंकार कर दिया था। इसके लिए हाई कोर्ट के अंतरिम आदेश के बाद कॉउंसलिंग कराई गई थी लेकिन रिजल्ट जारी नहीं किया गया था। shiksha mitron ke liye khushkhabri

इस बाबत हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई थी जिसकी वकालत करते हुए अधिवक्ता सीमांत सिंह ने कोर्ट में दलील देते हुए कहा था कि 2011 में एनसीटीई ने इसकी अनुमति दी थी लेकिन इसके बाबजूद बेसिक शिक्षा विभाग ने काउंसलिंग में दूरस्थ माध्यम से प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले शिक्षामित्रों को नियुक्त नहीं किया था। shiksha mitron ke liye khushkhabri

यदि पीएम मोदी चाहेंगे तो कश्मीर फिर से स्वर्ग बन सकता है : महबूबा मुफ़्ती

अधिवक्ता ने कहा कि जब एनसीटीई ने प्रशिक्षण की अनुमति दे दी है तो बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा नियुक्ति से इंकार करने का कोई औचित्य नहीं है। इस पर कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए परिणाम जारी कर नियुक्ति देने पर निर्णय लेने का आदेश दिया है। shiksha mitron ke liye khushkhabri

लम्बाई नही बढ़ रही है तो आप इस उपाय को जरुर करे







Leave a Reply