शिक्षा मित्रों को योगी सरकार से मिलेगी राहत




अखिलेश यादव सरकार में बहाल हुए 1 लाख 72 हजार शिक्षा मित्रों के भाग्य का फैसला अब योगी सरकार के हाथ में है। जिसके लिए योगी सरकार कैबिनेट की अहम बैठक करेगी और शिक्षा मित्रों पर बड़ा फैसला लेगी। यह बैठक लोकभावन में बुलाई गयी है।विश्वस्त सूत्रों से पता चला है कि बैठक में शिक्षामित्रों को वेटेज देने के लिए नियमावली में संशोधन के प्रस्ताव को मंजूरी दी जा सकती है। जिससे राज्य में एक लाख से अधिक शिक्षा मित्रों को राहत मिलेगी। इस बैठक में शिक्षा मित्रों के अवैध बहाली में लिप्त अपराधियों पर कड़ी करवाई के लिए प्रस्तावित यूपीकोका कानून के मसौदे को मंजूरी भी दी जा सकती है। shiksha mitron ko milegi rahat 

मोदी जी, तस्लीमा के साथ प्यार और रोहिंग्या से दुश्मनी क्यों : ओवैसी

बता दें कि हाल ही में उत्तर प्रदेश के शिक्षा मित्रों ने देश की राजधानी स्थित जंतर-मंतर पर जमकर धरना प्रदर्शन किया था। जिसकी वजह से दिल्ली की सड़के जाम रही रही थी । इसके पूर्व भी शिक्षा मित्र देश के नवीनतम राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से मिलकर उन्हें अपनी समस्या से अवगत कराया था। shiksha mitron ko milegi rahat 

क्या है पूरा मामला

अखिलेश यादव सरकार में 1 लाख 72 हजार शिक्षा मित्रों की बहाली पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी थी। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में 1 लाख 72 हजार शिक्षामित्रों में से समायोजित हुए 1 लाख 38 हजार शिक्षामित्रों की असिस्टेंट टीचर के पद पर हुई नियुक्ति को अवैध ठहराया था ।shiksha mitron ko milegi rahat

हर दर्द की दवा है लोंग

जबकि सभी 1 लाख 72 हजार शिक्षामित्रों को दो साल के भीतर टीइटी एग्जाम पास करने का आदेश दिया है । जस्ट‍िस एके गोयल और ज‍स्ट‍िस यू.यू ललित की बेंच ने आदेश सुनाते हुए ये भी कहा था कि अनुभव के आधार पर शिक्षामित्रों को वेटेज का भी लाभ मिलेगा। जबकि 34 हजार शिक्षामित्र जिनका समायोजन नहीं हुआ था वह अपने पद पर बने रहेंगे। shiksha mitron ko milegi rahat 

शिक्षा मित्रों की मांग

सुप्रीम कोर्ट के फैसले आने के बाद आदर्श शिक्षा मित्र वेलफेयर एसोसिएशन ने शिक्षा मित्रों के भाग्य का फैसला योगी सरकार के पाले में डाल दिया है। एसोसिएशन ने योगी सरकार से मांग की है कि जिस तरह तमिलनाडु में जलीकट्टू के मामले में कोर्ट का फैसला आने के बाद वहां राज्य सरकार ने जनता की इच्छा का ख्याल रखते हुए बिल लाया गया था। ठीक उसी तरह उत्तर प्रदेश में शिक्षा मित्रों का ख्याल रखते हुए बिल पास करे। shiksha mitron ko milegi rahat 




Leave a Reply