यदि राहुल गांधी अय्याशी और लौंडियाबाजी छोड़ दे तो बदल सकते है हालात : शीला दीक्षित




दिल्ली नगर निगम चुनाव में हार के बाद कांग्रेस में विरोध के स्वर आने लगे हैं। राहुल गांधी को सलाह देने के लिए कई वरिष्ठ कांग्रेसी नेता आगे आए हैं।दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने राहुल गांधी को सलाह दी है कि वे कार्यकर्ताओं से मुलाकात करें और पार्टी कार्यालय में प्रतिदिन दो से तीन घंटे कार्यकर्ताओं स मिलने चाहिए। कह सकते हैं कि कार्यालय में समय दें। तभी हालात सुधरेंगे। shila dikshit slams rahul gandhi 

कांग्रेस वापसी करेगी

जिस प्रकार से पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी पार्टी कार्यालय में वक्त देती थी और 2004 में हालात बदले थे। कार्यकर्ताओं में उत्साह आया था। और कांग्रेस सत्ता में वापसी कर गई। लेकिन अभी कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरा हुआ है इसको बढ़ाने की जरूरत है। शीला दीक्षित ने कहा के अगर राहुल गांधी कांग्रेस मुख्यालय में समय देंगे तो निश्चिततौर पर माहौल में बदलाव आएगा। कार्यकर्ता पार्टी से जुड़े रहेंगे। राहुल गांधी में वह क्षमता है और वह कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए समय तो देना ही पड़ेगा। shila dikshit slams rahul gandhi 

गौरतलब है कि जिस प्रकार से लगातार कांग्रेस हार रही है और अब केवल दो तीन राज्यों में उसकी सरकार बनी रही है तय है कि आगे कांग्रेस कार्यकर्ताओं में मनोबल टूट गया है। जिससे आने वाले चुनाव में इसका असर भी दिखेगा। दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि निराश होने की बात नहीं है मनोबल बनाए रखने की जरूरत है। सोनिया गांधी से सीख लेनी चाहिए। shila dikshit slams rahul gandhi 

मैंने अपनी कमाई से प्रॉपर्टी खरीदी है किसी के घर डाका नहीं डाला है : प्रियंका गाँधी

उन्होंने जिस तरह से कांग्रेस को सत्ता में वापसी की थी कोई सोच भी नहीं सकता था लेकिन लगातार कार्यकर्तों से मुलाकात और रोड शो कर कांग्रेस को वापसी करवाई थी। आज फिर से वैसे ही राह पर चलने की जरूरत है। इसके लिए समय देने की जरूरत है। राहुल गांधी अगर पार्टी कार्यालय में होंगे तो बहुत सारी समस्या हाथ के हाथ समाधान होंगे और तेजी से कार्य होगा। पार्टी में उत्साह आएगा और कांग्रेस वापसी करेगी। shila dikshit slams rahul gandhi