केजरीवाल घोटालेबाज है उन्हें पार्टी में बुलाना मतलब मोदी से पंगा लेना है : सोनिया गाँधी




राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर विपक्ष की एकजुटता को प्रदर्शित करने के लिए सोनिया गांधी ने लंच पर बुलाया। जिसमें आम आदमी पार्टी से किनारा किया गया। राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष अपनी रणनीति बनाने में लगी है। इसी मद्देनजर विपक्ष ने करीब एक महीने पहले से लगातार मुलाकातों का सिलसिला जारी है। sonia gandhi arrange party 

विपक्ष अभी बंटा हुआ है

इसी मद्देनजर शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने विपक्ष के नेताओं को लंच पर बुलाया है वहीं दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल को नहीं बुलाया गया। गौरतलब है कि कांग्रेस पर अरविंद केजरीवाल आरोप ना लगाए इसके लिए प. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उनसे मुलाकात कर यह कहा था कि केवल भाजपा पर ही आरोप लगाए। sonia gandhi arrange party 

नहीं तो भाजपा और मजबूत होगी। वहीं विपक्ष एकता के लिए केरल के मुख्यमंत्री विजयन ने भी मुलाकात की थी। हालांकि अभी जो सोनिया गांधी के यहां मुलाकात कर रहे हैं इसमें अरविंद केजरीवाल को अलग रखा गया है। विदित हो कि अरविंद केजरीवाल कांग्रेस पर निशाना साधते रहे हैं जिससे अभी भी कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के नेताओं के बीच सहज नहीं हैं। sonia gandhi arrange party 

विपक्ष को काफी संघर्ष करना पड़ेगा।

जिस प्रकार से लगातार अरविंद केजरीवाल लगातार आरोप लगाए हैं उसके बाद कई तरह के विवाद भी उत्पन्न हुए हैं। अब जब विपक्ष की एकता हो रही है इसमें अरविंद केजरीवाल को अलग रखने से कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। sonia gandhi arrange party 

मैं रक्षा मंत्री के काबिल नहीं हूँ मुझे देशभक्त बनकर ही रहने दीजिये : अक्षय कुमार

अभी ममता बनर्जी ने अरविंद केजरीवाल से मुलाकात कर 27 अगस्त की लालू प्रसाद की रैली में शामिल होने के लिए भी कहा था लेकिन ऐसा लगता है कि विपक्ष अभी बंटा हुआ है और जिस तरह से नरेंद्र मोदी लगातार अपने अभियान में लगे हैं। इसमें विपक्ष को काफी संघर्ष करना पड़ेगा। अरविंद केजरीवाल लगातार बराबर रूप से कांग्रेस और भाजपा पर हमले करते रहे हैं। इस कारण से सोनिया गांधी के यहां लंच पर उन्हें बुलाया नहीं गया है जिसके कारण विपक्ष एकता पर प्रश्नचिह्न लग रहा है। sonia gandhi arrange party