मोदी सरकार ने बनाया सुदर्शन मिसाइल जो मिनटों में पाक को कब्र में दफना देगा




भारत मिसाइल की दुनिया में पहले ही अपना लोहा मनवा चूका है। अब भारत एक ऐसा मिसाइल बनाने की सोच में है। जो दुश्मन को ध्वस्त कर पुनः अपने खेमे में लौट आएगा। इसकी घोषणा डीआरडीओ के विशिष्ट वैज्ञानिक और ब्रह्मोस के सीईओ सुधीर कुमार मिश्रा ने दी है। sudarshan missile test

भारत एमटीसीआर का स्थायी बन चूका है

उन्होंने कहा कि भारत वैदिक और धार्मिक परम्पराओं का देश है। जंहा भगवान् श्री हरि विष्णु जी के पास सुदर्शन चक्र है। जो दुश्मन को मारकर पुनः भगवान के पास लौट आता है। हमने ये विचार भगवान विष्णु के सुदर्शन चक्र से लिया है। वर्तमान में विश्व का कोई भी देश इस प्रकार की मिसाइल निर्माण में असमर्थ है। लेकिन हमने इस पर काम किया है और मार्च के दूसरे हफ्ते में इसका परीक्षण किया जाएगा। एक बार सरकार की तरफ से इशारा मिल जाता है तो इसका निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा। sudarshan missile test 

मोदी सरकार ने बनाया सूर्य मिसाइल जो मिनटों में पाकिस्तान को कर सकता है तबाह

मिश्रा ने कहा कि हमने मिसाइल निर्माण में वो महारत हासिल कर ली है। जिससे मिनटों में दुश्मनों के बेड़े को नेस्तोनाबूत किया जा सकता है। हालांकि, ब्रह्मोस मिसाइल की मारक क्षमता अभी 290 किलोमीटर है। लेकिन अब ब्रह्मोस मिसाइल की मारक क्षमता को भी 1000 किलोमीटर किया गया है। इसका परीक्षण मार्च के अंतिम सप्ताह में किया जाएगा। sudarshan missile test 

आपको बता दें कि भारत मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रेजिम (एमटीसीआर) का स्थायी बन चूका है। जिसमें अमेरिका, रूस, फ्रांस, जर्मनी, कनाडा सहित अन्य देश है। एमटीसीआर के सदस्य बनने के बाद भारत अब किसी भी देश के साथ मिसाइल की खरीद-बिक्री कर सकता है। साथ में ड्रोन मिसाइल भी खरीद सकता है। भारत जल्द ही वियतनाम को ब्रह्मोस मिसाइल बेचेगा। यह मिसाइल रूस के सहायता से निर्मित किया गया है।  sudarshan missile test 
( प्रवीण कुमार )