इसलिए तीन तलाक पर बैन जरुरी है !




जी हां, भले ही मुस्लिम लॉ बोर्ड भारत सरकार के तीन तलाक पर प्रतिबंध का विरोध कर रही है। ओवैसी इसे तानाशाही बता रहे है। लेकिन सच्चाई ये है कि तीन तलाक जैसी कट्टरवाद प्रथा पर अवश्य प्रतिबंध लगना चाहिए। हालांकि, ये मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है। लेकिन भारत सरकार को जल्द ही इस प्रथा पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा देना चाहिए। teen talaq islam law

ताजा मामला हैदराबाद का है। जंहा एक विदेश में रहने वाले पति ने अपनी पत्नी को व्हाट्सअप पर तीन तलाक का मेसेज लिखकर भेज दिया। जिस कारण लड़के के माता-पिता ने अपनी बहु को घर से बाहर निकाल दिया। हालांकि, बहु ने सास, ससुर और अपने पति के खिलाफ प्राथमिक दर्ज कराई है। लेकिन इस तरह की प्रथा से कितनी बहु-बेटियां शिकार होंगी। इसमें बदलाव करने की आवश्यकता है। teen talaq islam law

जानिए तीन तालाक पर प्रतिबंध क्यों जरुरी है ? teen talaq islam law

मुस्लिम धर्म में शादी के बाद यदि पति तीन बार मौखिक या लिखित रूप से तलाक बोल देता है तो तलाक हो जाता है। हालांकि, मुस्लिम धर्म इसे अल्लाह की मर्जी बताते है। लेकिन आधुनिक युग में जरुरी है कि हमें धर्म में पनप रहे कुरीतियों पर प्रहार करना चाहिए। इसके लिए जो भरसक प्रयास और कदम उठाने चाहिए। उसे अवश्य करना चाहिए। ऐसे ही शनि शिगनापुर में 400 साल पुरानी परम्परा को अदालत ने समाप्त कर दिया। जिसमें महिलाओं को मंदिर में प्रवेश पर निषेध था। वही मुम्बई स्थित हाजी अली दरगाह में भी महिलाओं के प्रवेश पर प्रतिबंध था। जिसे अदालत ने पूरी तरह से हटा दिया है। ठीक उसी प्रकार तीन तालाक पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने की आवश्यकता है। teen talaq islam law

कैजुअल सेक्स से दिमाग पर बुरा असर पड़ता है !

गौरतलब है कि भारत की संस्कृति को पूरा विश्व अपना रहा है। जिसमें यूरोपीय देश के लोग भारत के वैवाहिक जीवन और रस्म रिवाज को नजदीकी से परख रहे है। ऐसे में भारत में रह रहे मुस्लिम महिलाओं का शोषण किसी भी नजरिये से सही नहीं है।  teen talaq islam law
( प्रवीण कुमार )