मुस्लमान बहनों की चिंता करने वाले जरा अपने गिरेबान में भी झांक लो : जिलानी




देश में तीन तलाक का मुद्दा लगातार गरमाया हुआ है। जिसके चलते मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने भी अपनी सफाई दी है। और तीन तलाक को शरिया के मुताबिक ही उसे लागू माना जाएगा। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सचिव जफरयाब जिलानी ने कहा है कि तीन तलाक के मुद्दे पर निर्देश जारी कर दिए गए हैं अगर कोई इसका गलत इस्तेमाल करता है तो उसका सोशल बायकॉट किया जाएगा।  teen talaq par ban lagna chahiye 

तीन तलाक का विरोध किया

जफरयाब जिलानी ने कहा कि जब पुरुष गुस्से में, नशे में या फिर बिना तलाक की नीयत से एक साथ तीन बार तलाक बोल देता है तो शरीयत के हिसाब से उसे गुनाह माना जाता है। लेकिन इस तरह से दिए गए तलाक को भी मान लिया जाता है। जफरयाब जिलानी ने कहा है कि तीन तलाक को लेकर काफी गलतफहमियां हैं, इस पर बोर्ड ऑफ कंडेक्ट जारी करेगा। शऱिया में बताए गए कानून ही मान्य होंगे। लेकिन आज जो गलतफहमियां हुई है उसे भी दूर किया जा रहा है। teen talaq par ban lagna chahiye 

देश में उबाल आया हुआ है

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि मुस्लिम समाज के लोगों को तीन तलाक पर आगे आना चाहिए। जिससे की इस तरह की बुराइयों को दूर दिया जा सके। जिसके बाद सपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व कैबिनेट मेंत्री आजम खान ने यह कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन तलाक के मुद्दे पर तंग करना छोड़ दें। teen talaq par ban lagna chahiye 

मोदी तीन तलाक मुद्दे पर मुसलमानों को तंग करना छोड़े नहीं तो भगवा रंग पहनने लायक नहीं छोडूंगा : आजम खान

जिसके बाद तीन तलाक का मुद्दा और गरमा गया है। आजम खान ने कहा है कि वह इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र संघ भी ले जाएंगें। तब जाकर मोदी का खुलासा होगा। जब से तीन तलाक का मुद्दा देश भर में आया है तब से कई मुस्लिम संगठन ने भी इसका विरोध किया और लगातार महिलाओं ने भी तीन तलाक का विरोध किया। और जिसको लेकर देश में उबाल हो आया हुआ है। teen talaq par ban lagna chahiye