यदि पूजा पाठ ढोंग नहीं है तो तीन तलाक कैसे ढोंग है : कपिल सिब्बल





तीन तलाक मुद्दे पर सरकार को सरकार के भाषा में ही घेर लिया गया। वही श्रेष्ठ वकील होता है जो समय पर जवाब देता है कपिल सिब्बल ने यह कर दिखाया। वरिष्ठ कांग्रेस नेता व प्रसिद्ध वकील कपिल सिब्बल ने तीन तलाक मुद्दे पर सुनवाई के दौरान इसे सही करार देते हुए जबरदस्त तर्क देकर सबको चित्त कर दिया। triple talaq jayaj hai

हिंदू, मुस्लिम सिक्ख, ईसाई

कपिल सिब्बल ने कहा कि तीन तलाक 1400 साल पुरानी प्रक्रिया है। इसे अंसवैधानिक कैसे कहा जा सकता है। कपिल सिब्बल ने भाजपा के नेताओं की तरह जवाब तीन तलाक को सही करार करते हुए कहा कि अगर अयोध्या के राम जन्मभूमि होने पर हिंदुओं की आस्था पर सवाल नहीं उठाया जा सकता तो तीन तलाक पर मुस्लिमों के विश्वास पर भी सवाल नहीं उठाया जाना चाहिए। triple talaq jayaj hai

कपिल सिब्बल ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की ओर से पक्ष रख रहे हैं। कपिल सिब्बल ने कहा कि तीन तलाक कोई मसला नहीं है, मसला तो असर में पितृसत्तात्मक का है। हर पितृसत्तात्मक समाज में इस तरह का भेदभाव होता है चाहे वह हिंदू हो या मुस्लिम या पारसी या कोई ओर। triple talaq jayaj hai

कपिल सिब्बल ने साफ तौर पर कोर्ट में कहा किसी के विश्वास को निर्धारित नहीं कर सकता और उसे इसमें दखल नहीं देना चाहिए। इस तरह के विषय पर बहस ही गलत है। तीन तलाक जैसे मुद्दे पर बहस करने की आज जरूरत ही नहीं है। triple talaq jayaj hai

तीन तलाक

गौरतलब है कि तीन तलाक के मुद्दे पर छुट्टियों को रद्द करके उच्चतम न्यायालय लगातार बहस करवा रही है और इसमें समय निर्धारित किए गए हैं तीन दिन पक्ष और तीन दिन विपक्ष में तीन तलाक मुद्दे पर अपना अपना पक्ष रख सकते हैं। जिसमें और भी समय रखा गया है। triple talaq jayaj hai

पाक फिर से होगा गुलाम : पाक मीडिया

जो जज पीठ बनाई गई है उसकी खास बात यह है कि इसमें हिंदू, मुस्लिम सिक्ख, ईसाई और पारसी जज हैं। सरकार तीन तलाक के मुद्दे को समाप्त करने के लिए मुस्लिम संगठनों से सहयोग करने की अपील की है जिसके बाद कई संस्थाएं आगे आई हैं तो कई संस्थाएं अभी भी तीन तलाक को सही ठहरा कर सरकार का विरोध कर रही है. triple talaq jayaj hai