मुसलमानों को जीने नहीं दूंगा उसे कब्र में दफनाने के बाद ही राजनीति से सन्यास लूंगा : ट्रम्प




अमेरिका में जब से नई सरकार डोनाल्ड ट्रंप की बनी है कई नई नीतियों को लागू किया गया है। जिसको लेकर कई तरह के विवाद भी हुए हैं।
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सीधे तौर पर एक्शन लेने वाले जाने जाते हैं। इन्होंने चुनाव के दौरान ही स्पष्ट कर दिया था कि वे मानवता के विरुद्ध कार्य करने वाले को नहीं छोड़ेंगे इनके लिए कोई जगह नहीं है। trump threat world Muslim 

हाल में रुस में आतंकवादी हमले हुए हैं

जिस प्रकार से विश्वभर में लगातार आतंकवादी हमले हो रहे हैं जिसकी सतर्कता के लिए डोनाल्ड ट्रंप ने साफ कहा है कि जो भी मुसलमान मानवता के विरोधी हैं उसे हूर के पास भेजूंगा। निश्चिततौ पर इनके कड़े रुख से कई तरह के आलोचना हुई है लेकिन इसका फायदा भी देश को मिला है। trump threat world Muslim

डोनाल्ड ट्रंप लगातार देश हित में कड़े फैसले ले रहे हैं चाहे वीजा 1 बी का मुद्दा हो या आंतकवादियों के विरुद्ध। डोनाल्ड ट्रंप जब चुनाव प्रचार में ऐसे बयान देते थे तो लोगों ने सोचा था कि शायद केवल चुनाव प्रचार के लिए ऐसे बयान दे रहे हैं लेकिन वे जिस प्रकार से पद ग्रहण करते ही एक्शन लिया है इससे इनके देश में प्रशंसकों की संख्या बढ़ गई है। trump threat world Muslim

उत्तराखंड में रहना है तो मुसलमानों को वन्दे मातरम कहना होगा : बीजेपी सरकार

भले ही बाहरी देश को थोड़ा नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। अमेरिका में जब वर्ल्ड ट्रेड पर जब हमले हुए थे तभी से ऐसी सख्त कार्रवाई की मांग की जा रही थी। अमेरिका ने कड़े रुख अपनाए भी लेकिन डोनाल्ड ट्रंप की जीत इस बात की ओर इशारा कर गई कि देश और सख्त होना चाहता है। जिस प्रकार से लगातार विश्व स्तर पर एक ही समुदाय के लोग हमले कर रहे हैं ऐसे में डोनाल्ड ट्रंप का यह बोलना की मुसलमान को हूर के पास भेजूंगा काफी मायने रखता है। अभी हाल में रुस में आतंकवादी हमले हुए हैं जिसमें दस लोगों की जान चली गई। trump threat world Muslim