यूपी में दोबारा हो सकता है मतदान !




उत्तर प्रदेश में भाजपा की बड़ी जीत के बाद से विपक्षी नेताओं ने भाजपा सहित पीएम मोदी की जमकर आलोचना कर रहे है । विपक्षी नेताओं में बसपा सुप्रीमो मायावती, आप प्रमुख केजरीवाल और सपा के नेता अखिलेश यादव और शिवपाल यादव है। uttar pradesh election will redo 

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, ” बीजेपी ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में गड़बड़ी की। जिस कारण बीजेपी यूपी जीती है। बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के चेहरे पर जीत का भाव नहीं झलक रहा था। 11 मार्च बसपा के लिए काला दिन रहा। इसके जिम्मेवार पीएम मोदी और बीजेपी है। इसलिए बसपा ने तय किया है कि हर महीने की 11 तारीख को प्रदेश के सभी जिलों के बसपा मुख्यालय में काला दिवस मनाया जाएगा। uttar pradesh election will redo 

मायावती का आरोप बेबुनियाद और निराधार है

मायावती ने आगे कहा, ” मैंने चुनाव आयोग को इस संदर्भ में इतला किया था लेकिन चुनाव आयोग की तरफ से कोई संतोष जनक परिणाम नहीं मिला। इसलिए बसपा ने निर्णय लिया है कि हम कोर्ट जायेंगे और बीजेपी के खिलाफ शिकायत दर्ज करेंगे। बीजेपी ने जान बूझकर यूपी के एवम मशीन में गड़बड़ी की है। गोवा, उत्तराखंड, मणिपुर और पंजाब के मशीन में कोई गड़बड़ी नहीं की गयी ताकि जनता अनजान बनी रहे। मायावती ने आदिवासी, दलित वर्ग को आगाह किया कि यदि वो शिक्षित नहीं हुए तो आने वाले 2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी इसी तरह की गड़बड़ी कर चुनाव जीत सकती है और आरक्षण को रदद् कर सकती है। इसलिए सतर्क रहे। uttar pradesh election will redo 

वही आप प्रमुख केजरीवाल ने भी चुनाव आयोग को खत लिखकर बैलेट पेपर के जरिये चुनाव कराने की मांग की थी लेकिन चुनाव आयोग ने केजरीवाल की मांग को ठुकरा दिया था। आप प्रमुख ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी ने पंजाब चुनाव में भी गड़बड़ी की है। जिस कारण आप पंजाब में हारी है। uttar pradesh election will redo 

जबकि सपा और कांग्रेस गठबंधन ने बीजेपी पर सरकारी खजानों को लुटाने और गुंडा गर्दी का आरोप लगाया। सपा के नेता शिवपाल यादव ने कहा, : अमित शाह और पीएम मोदी ने राज्य में सबको डरा धमका कर वोट लिया है। सपा के नेता अखिलेश यादव ने कहा, EVM में गड़बड़ी से इंकार नहीं कर सकता हूँ। सत्ता के लिए मोदी सरकार कुछ भी कर सकती है। uttar pradesh election will redo 

कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गन्धी ने कहा कि मतगणना करने वाले सभी कर्मचारी बिके हुए थे। जो मोदी सरकार के आदेशानुसार काम किया है। एग्जिट पोल की तरह मतगणना को भी बीजेपी ने ख़रीदा है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने एवम में गड़बड़ी की बात की है।

राजनाथ सिंह यूपी के सीएम और शिवराज सिंह चौहान होंगे देश के अगले गृहमंत्री !

अब बड़ा सवाल यह उठता है कि क्या वाकई में EVM के साथ छेड़छाड़ हुई थी। यदि 2012 के यूपी विधान सभा चुनाव के परिणाम पर नजर दौड़ाई जाये तो पता चलता है कि सपा को पूर्ण बहुमत प्राप्त हुआ था। 403 विधान सभा सीट में से सपा को २५२ सीट प्राप्त हुआ था। उस समय सेण्टर में कांग्रेस की सरकार थी। जबकि कांग्रेस और सपा में गठबंधन भी नहीं थी। ऐसे में कांग्रेस चाहती तो सत्ता हासिल कर सकती थी। फिर कांग्रेस क्यों नहीं यूपी जीत पायी। uttar pradesh election will redo 

वही 2007 के चुनाव में बसपा को पूर्ण बहुमत प्राप्त हुआ था। उस समय मायावती ने ये नहीं कहा कि मैं निष्पक्ष रूप से इस जीत को नहीं स्वीकार कर सकती क्योंकि वोट फर्जी भी हो सकता है। ऐसे में अब मतगणना और एवम पर शक करने का कोई औचित्य नहीं है ! बता दें कि यूपी विधान सभा चुनाव में 33 सीट पर बैलेट पेपर से चुनाव हुआ था। जिसमें 25 सीटों पर बीजेपी की जीत मिली। ऐसे में मायावती का यह आरोप बेबुनियाद और निराधार है कि EVM मशीन के साथ गड़बड़ी की गयी थी।  uttar pradesh election will redo 
( प्रवीण कुमार )