वट सावित्री के दिन विवाहित महिलाएं ये खास चीज ‌को करना ना भूलें




धार्मिक ग्रंथो के अनुसार वट सावित्री व्रत ज्येष्ठ माह में कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मनाया जाता है। तदनुसार इस वर्ष गुरुवार 25 मई 2017 को वट सावित्री व्रत मनाया जाएगा। यह व्रत महिलाएं अपने सौभाग्य की कामना एवम संतान प्राप्ति के लिए करती है। भारतीय संस्कृति में वट सावित्री व्रत आदर्श नारीत्व का प्रतीक माना गया है। विभिन्न धार्मिक पुराणो में इस व्रत के विषय में विस्तार पूर्वक बताया गया है। वट सावित्री के दिन विवाहित महिलाएं ये खास चीज ‌को करना ना भूलें  vat savitri puja vidhi 

वट सावित्री पूजा महत्व vat savitri puja vidhi 

पीपल की भांति वट वृक्ष का भी विशेष महत्व है। इस व्रत को करने से सौभाग्य एवम संतान की प्राप्ति होती है। धार्मिक मान्यता अनुसार वट वृक्ष में ब्रह्मा, विष्णु एवम महेश का वास होता है। वट वृक्ष के नीचे बैठकर पूजन, व्रत कथा सुनने से समस्त मनोकामनाएँ पूर्ण होती है। वट सावित्री के दिन विवाहित महिलाएं ये खास चीज ‌को करना ना भूलें vat savitri puja vidhi 

वट सावित्री पूजन विधि

वट सावित्री व्रत के दिन माँ सावित्री के साथ यम देव की भी पूजा करना चाहिए। सावित्री ने इस तिथि को मृतक पति को धर्मराज यम से पुनः जीवित करने का वर प्राप्त की थी। जिससे सावित्री का पति सत्यवान जीवित हो उठा था। वट सावित्री के दिन विवाहित महिलाएं ये खास चीज ‌को करना ना भूलें

जानकी नवमी के दिन करें ये काम, बनेंगे आपके सारे बिगड़े काम

इस दिन व्रती को मिटटी से निर्मित माँ सावित्री तथा यमराज की प्रतिमा का पूजन विधि-विधान पूर्वक करना चाहिए । वट सावित्री की पूजा वट वृक्ष के नीचे करना चाहिए। माँ सावित्री की पूजा रोली, केसर, सिंदूर, धुप-चन्दन आदि से करे एवम सती सावित्री की कथा सुनें।  अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें  www.hindumythology.org वट सावित्री के दिन विवाहित महिलाएं ये खास चीज ‌को करना ना भूलें