वेदों की और लौटो का होगा सख्ती से पालन : मोदी सरकार




गोहत्या पर प्रतिबंध के लिए लगातार कोशिश की जा रही है। जिसको लेकर प्रदेश सरकार कानून बना रहे हैं। गोवा में अभी मनोहर पर्रिकर की सरकार पश्चिम संस्कृति को बढ़ावा देने वाली रेव पार्टियों पर रोक लगाने वाली है। जिसके लिए उन्हें भाजपा की सहयोगी महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी से भी पूर्ण समर्थन हासिल है। vedo ki aur lauto 

गोहत्या पर प्रतिबंध लग जाएगा

एमजीपी नेता ने तो साफ तौर पर यह कह दिया है कि सरकार को गोवा में गो हत्या पर पूर्ण प्रतिबंध लगा देना चाहिए। जिसके लिए हम समर्थन देने को तैयार हैं। खास बात यह है कि देश में अधिकतर राज्यों में भाजपा की सरकार है और कई राज्यों में गो हत्या बैन भी है। लेकिन केंद्र सरकार फिर इसे राज्य का ही विषय माना है और अपने स्तर के कानून के मुताबिक इसपर नियम लागू करने की बात की है। vedo ki aur lauto 

हालांकि सर संघचालक मोहन भागवत ने साफ तौर पर कहा कि राजनीतिक दलों में सहमति बनाने की जरूरत है जो बन जाएगी। इसके लिए कानून बनाने की जरूरत है। भाजपा उत्तर पूर्व राज्यों में गो हत्या पर प्रतिबंध पर सहमत नहीं है क्योंकि यहां काफी संख्या में ईसाई रहते हैं जो इसका सेवन करते हैं। गोवा सरकार वैसे पश्चिम संस्कृति को बढ़ावा देने वाली कोई भी चीज पर प्रतिबंध लगाने का पक्षधर रहा है जिसमें भारतीय संस्कृति को नष्ट करता है। जिसमें रेव पार्टियां हैं। जिसमें युवा को भटकाया जाता है। गोवा में इसपर भी पूर्ण प्रतिबंध लगाया जा रहा है। vedo ki aur lauto 

राम हम जैसे इंसान थे उनकी पूजा करना ढोंग है : दिग्विजय सिंह

जिस प्रकार से उत्तर प्रदेश में योगी सरकार बनते ही कई पश्चिम संस्कृति के पालन कर रहे चीजों पर प्रहार किया है तो तय है कि अभी कई बदलाव होंगे। भाजपा का मानना है कि देश को अपनी संस्कृति में आगे बढ़ना चाहिए जिससे कि संस्कारों से भरे हो हमारे युवा और उनमें भटकाव ना हो और पश्चिमी संस्कृति में ना रमे। जिस प्रकार से गोवा सरकार भी फैसले ले रही है तय है कि जल्द ही यहां गोहत्या पर प्रतिबंध लग जाएगा। vedo ki aur lauto