केजरीवाल सतेंद्र जैन को मंत्री पद से हटायें नहीं तो धरना प्रदर्शन फिर से किया जाएगा : विजेंद्र गुप्ता




सत्येन्द्र जैन द्वारा 27.69 करोड़ रू0 के काले धन से खरीदी गयी कृषि भूमि को रिहायशी भूमि में परिवर्तित कर अरबों रू0 कमाने की चाल नाकाम भ्रष्टाचार न सहने की बात करने वाले केजरीवाल द्वारा जैन को संरक्षण देना अत्यंत खेदजनक केजरीवाल तुरंत जैन को मंत्री पद से हटायें ताकि वे अपने पद का दुरूपयोग न कर पायें और दस्तावेजों से छेड़छाड़ न कर पायें। vijendra gupta demand satendra jain resign  

दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष श्री विजेन्द्र गुप्ता ने आज मुख्यमंत्री केजरीवाल से मांग की कि शहरी विकास मंत्री सत्येन्द्र जैन को अपने पद से तुरंत हटाया जाये । ऐसा करना अति आवश्यक है ताकि जैन मनी लाउंड्रिंग तथा उसके द्वारा अर्जित 27.69 करोड़ रू0 से खरीदी गई कृषि भूमि को रिहायशी भूमि मे परिवर्तित करने के मामले में मंत्री की हैसियत से जांच को प्रभावित न कर पायें तथा दस्तावेजों के साथ छेड़-ंउचयछाड़ भी न कर पायें । vijendra gupta demand satendra jain resign 

सी.बी. आई.ने इस मामले में दर्ज एफ.आई. आर. में सीबीआई ने आरोप लगाया है कि सत्येन्द्र जैन ने मंत्री की हैसियत से अपने प्रभाव का भरपूर प्रयोग करते हुए इस विशाल जमीन का भू-ंउचयउपयोग परिर्वितत करने की पूरी कोशिश की ताकि वे ऐसा होने पर आसमान में पहुंचने वाली कीमतों से करोड़ों रू0 का लाभ अर्जित करें । vijendra gupta demand satendra jain resign 

विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि यह नैतिक और कानूनी रूप से हेरा-ंउचयफेरी और बेईमानी का अत्यंत गंभीर मामला है । यह अत्यंत क्षोभ की बात है कि अरविन्द्र केजरीवाल जो भ्रष्टाचार के विरूद्ध इतने बड़े प्रचारक रहे हैं अब अपने मंत्री को बचाने के लिए उनके कारनामों की तरफ आंख मूंदकर बैठे हुए हैं । यदि उनमें लेशमात्र भी नैतिकता बची है तो उन्हें तुरंत ही शहरी विकास मंत्री को हटाकर निष्पक्ष जांच का मार्ग प्रशस्त करना चाहिए ताकि सभी दोषियों को इसमें कानून संगत सजा मिल सके । vijendra gupta demand satendra jain resign 

सत्येन्द्र जैन का मंत्री पद से हटाया जाना अति आवश्यक है क्योंकि उन्होंने वर्ष 2015-ंउचय16 में शहरी विकास मंत्री रहते हुए 4.63 करोड़ रू. की मनी लाउंड्रिंग की । सरकारी पद पर बैठे हुए किसी भी व्यक्ति के लिए ऐसा करना अत्यंत गंभीर अपराध है । मंत्री पद पर बैठने से पूर्व वर्ष 2010-ंउचय12 में उन्होंने 11.78 करोड रू0 की राशि शैल कम्पनियों के माध्यम से निवेश की । vijendra gupta demand satendra jain resign 

दोषी व्यक्ति चिन्हित किया जा सके

विपक्ष के नेता ने कहा कि सीबीआई ने पाया कि उपरोक्त राशि कैश में दी गयी । यह राशि जैन ने कलकत्ता के कुछ एन्ट्री-ंउचयआॅपरेटरों के माध्यम से शैल कम्पिनयों में निवेश की । इसका उद्देश्य था कि कैश के बदले उनको राशि की एन्ट्रियां मिल जाये । तत्पश्चात एन्ट्री-ंउचयआॅपरेटरों ने इस तरीके से प्राप्त हुई राशि को शेयरों में निवेश के रूप में परिवर्तित कर दिया । इस मनी लाउंड्रिंग के मामले में कुल चार कंपनियां संलग्न थी और इन सबके प्रमुख लाभार्थी सत्येन्द्र जैन थे । vijendra gupta demand satendra jain resign 

सीबीआई को सारे मामले की तेजी से जांच करनी चाहिए

सीबीआई के अनुसार आयकर विभाग ने अपनी जांच में पाया कि जैन ही प्रमुख कर्ता-ंउचयधर्ता थे और मनी लाउड्रिंग, राशि निवेश तथा सारी प्रणाली को चलाने वाले प्रमुख कर्ता-ंउचयधर्ता थे । शैल कम्पनियों के शेयरों के माध्यम से प्राप्त हुई 27.69 करोड़ की राशि का कृषि भूमि खरीदने के लिए प्रयोग किया गया । तत्पश्चात् मंत्री ने अपने प्रभाव का पूरा उपयोग करते हुए इन बड़े-ंउचयबड़े भूखंडों को रिहायशी उपयोग में परिवर्तित करने का पूरा प्रयास किया । vijendra gupta demand satendra jain resign 

ओपिनियन पोल से केरजवाल की बोलती बंद हो गयी है : शयाम जाजू

इसका उद्देश्य था कि जब कृषि भूमि रिहायशी भूमि में परिवर्तित हो जायेंगी तब वे इससे कई गुना अधिक लाभ कमा सकेंगे । ऐसा माना जा रहा है कि यदि जैन अपनी कोशिशों में कामयाब होते तो वे अरबों रू0 का काला धन अर्जित कर लेते । अतः उन्होंने अपनी पूरी चेष्टा की और अपने पद का अधिकतम दुरूपयोग किया । विपक्ष के नेता ने कहा कि सीबीआई को सारे मामले की तेजी से जांच करनी चाहिए ताकि दोषी व्यक्ति चिन्हित किया जा सके और उनके विरूद्ध कड़ी से कड़ी दंडात्मक कार्यवाही की जा सके । vijendra gupta demand satendra jain resign