’सरकार पानी की समस्या की जड़ तक पहुॅंचने की बजाए बहाने ढूंढने में लगी है : विजेंद्र गुप्ता




नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने आज कहा कि केजरीवाल सरकार दिल्ली में पानी की समस्या की जड़ तक पहुॅंचने के स्थान पर काल्पनिक कारण ढूंडने में लगी है । उसका उद्देश्य है कि बर्खास्त किए गए जल मंत्री के निकाले जाने को किसी प्रकार बहाने ढूंड कर सही ठहराया जा जाए । vijendra gupta slams aap govt

जल बोर्ड के दावे कितने खोखले हैं

उन्होंने पूछा कि क्या सरकार को मालूम है कि दिल्ली जल बोर्ड के वाटर टैंकरों में लगे जी.पी.एस. सिस्टम ने काम करना बन्द कर दिया है । उन्होंने यह भी पूछा कि क्या सरकार की जानकारी में है कि पानी की कमी वाले इलाकों में प्राइवेट टैंकर माफिया सक्रिए है । उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले पानी के बढ़े हुए बिल आने जैसे मुद्दे और इनकी जांच केवल राजनीतिक मुद्दा है । vijendra gupta slams aap govt

20 रुपये प्रति 200 लीटर बेचा जा रहा है

विपक्ष के नेता ने कहा कि सरकार ने दिल्ली में जल आपूर्ति की क्षमता की वृद्धि के लिए कोई वैकल्पिक योजना पर सोचना तक प्रारम्भ नहीं किया है । दिल्ली जल बोर्ड के बोर कुएं लगभग सूख चुके हैं और वाटर टैंकर वितरण में माफिया का नियन्त्रण है । संगम विहार जैसे अनेक क्षेत्रों में पानी 20 रुपये प्रति 200 लीटर बेचा जा रहा है । वहीं दूसरी ओर अनेक क्षेत्रों में बोरिंग स्थलों पर माफिया का राज चल रहा है ।  vijendra gupta slams aap govt

MCD हार का बदला केजरीवाल सरकार ने बढ़ाया बिजली का बिल

विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि सरकार यह दावा करती है कि कच्चे व पेयजल की निगरानी के लिए उसके पास 9 प्रयोग शालाएं हैं । यदि यह सत्य है तो दिल्ली सरकार को इतनी बड़ी संख्या में गंदे पानी की शिकायतें क्यों प्राप्त हो रही हैं । जल बोर्ड को पानी न प्राप्त होने की 242484 शिकायतें प्राप्त हुई । इससे पता चलता है कि जल बोर्ड के दावे कितने खोखले हैं । vijendra gupta slams aap govt