केजरीवाल ने घुस लेकर जबरन दूसरे बच्चों को प्राइवेट स्कूलों में दिखला दिलवाया है




विजेंद्र गुप्ता, नेता प्रतिपक्ष दिल्ली विधानसभा ने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार द्वारा चुने गए ईडब्लूएस/डी0जी0 कैटेगरी के 2000 से भी अधिक बच्चों को प्राइवेट स्कूलों द्वारा नर्सरी एवं एंट्री क्लॉसेज में दाखिले के लिए इंकार कर दिया गया है । उन्होंने कहा कि इसके लिए सीधे तौर पर दिल्ली सरकार जिम्मेदार है । vijendra gupta slams kejriwal 

यदि सरकार प्राईवेट स्कूलों के प्रबन्धन के साथ मिली हुई नहीं है तो उसे रिव्यू पैटिशन डालनी चाहिए ताकि इन बच्चों के साथ न्याय हो सके । कोर्ट के दखल के बाद दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय ने लगभग 8000 बच्चों को अपर ऐज लिमिट में एक साल की छूट दे दी । vijendra gupta slams kejriwal 

छात्रों का चयन शिक्षा निदेशालय द्वारा लॉटरी द्वारा किया जाएगा

इसके बावजूद एक साल से ज्यादा गैप वाले लगभग 2000 बच्चों को सरकार प्राईवेट स्कूलों में दाखिला नहीं दिलवा पा रही है । इसके कारण इन बच्चों के अभिभावकों में घोर निराशा है क्योंकि इनके बच्चों का दाखिला अभी तक अधर में लटका हुआ है । इसके साथ ही स्कूल प्रबन्धन को अपनी मनमानी से इतनी ही सीटें भरने के लिए छूट मिल गई है। इसके चलते वे भारी कमाई करने जा रहे हैं । vijendra gupta slams kejriwal 
प्राइवेट स्कूलों द्वारा दिल्ली सरकार द्वारा लॉटरी से चयनित इन बच्चों को दाखिला देने के आदेश न मानना यह सिद्ध करता है कि दिल्ली के शिक्षा विभाग की नीति प्राइवेट स्कूलों द्वारा तय की जाती हैं न कि दिल्ली के उप मुख्यमंत्री द्वारा जिनके पास शिक्षा विभाग भी है। इसलिए उप मुख्यमंत्री को 2000 बच्चों को प्राइवेट स्कूलों द्वारा दाखिला न देने के लिए जनता और विशेषकर बच्चों के अभिभावकों से सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए। vijendra gupta slams kejriwal 

दिल्ली सरकार

शिक्षा निदेशालय द्वारा ऐसे चयनित छात्र जिनका एक साल से ज्यादा का गैप है प्राइवेट स्कूलों द्वारा साफ तौर से दाखिले के लिए इंकार कर दिया गया है। जिसे दिल्ली सरकार ने सिर झुकाकर मंजूर कर लिया है और अब दिल्ली सरकार, मानकों के अनुसार चयनित बच्चों को बजाय प्राइवेट स्कूलों के सरकारी स्कूलों में दाखिला देने के लिए तैयारी कर रही है। vijendra gupta slams kejriwal 

क्या यह आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार का इन 2000 बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ और धोखा नहीं है? वास्तव में यह दिल्ली सरकार का, आम आदमी के मुखौटे के पीछे का असली चेहरा है। खास वर्ग के स्वार्थों की पूर्ति के लिए चलाई जा रही दिल्ली सरकार का असली चेहरा है।  vijendra gupta slams kejriwal 

सिद्धू मेरे गुरु जी है उनके लिए केजरीवाल को भी छोड़ सकता हूँ : भगवंत मान

दिल्ली सरकार के आदेशों के हवाले से नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि निदेशक शिक्षा दिल्ली सरकार के अनुसार 2017-18 के शिक्षा सत्र से एंट्री लेवल क्लॉसेज में प्रवेश की उच्चतम सीमा जो कि 31 मार्च को पहले प्री स्कूल के लिए 3 साल, प्री प्राइमरी के लिए 4 साल और कक्षा 1 के लिए 5 साल थी को बढ़ाकर क्रमशः 4 वर्ष, 5 वर्ष और 6 वर्ष कर दिया गया है। इसके साथ ही प्राइवेट स्कूलों में दाखिले के लिए मानकों के अनुसार अलॉट करने के लिए छात्रों का चयन शिक्षा निदेशालय द्वारा लॉटरी द्वारा किया जाएगा जो कि संबंधित स्कूलों को मान्य होगा। vijendra gupta slams kejriwal