हर महीने पचास हजार कमाना चाहते है तो ये न्यूज़ पढ़िए




भीख मांगना सबसे बुरी बात है लेकिन आप यह जानकार हैरान हो जाएंगे कि एक भिखारी की सैलरी पचास हजार होती है। जी हाँ एक सर्वे में ये बात सामने आई है कि एक भिखारी की सैलरी एक महीने में पचास हजार होती है। want earn money fifty thousand month read news 

जी हाँ ये भीख कई तरह से लिए जाते हैं। भीख माँगना और दान लेना दोनों बात एक नहीं हो सकता है, या हो सकता है ये एक बहस का विषय हो सकता है। अब सवाल उठता है की क्या भारत में ही लोग भीख मांगते है या अन्य किसी देश में भी ऐसी प्रथा चलती है। want earn money fifty thousand month read news 

भाई साहब गिनती के किसी एक आध देश को छोड़ दिया जाय तों ये प्रथा सब जगह चल रही है। अघिकांश भिखारी खासकर सड़कों पर भीख मांगते हैं। वैसे केवल सड़क पर ही भीख माँगना इन भिखारियों का काम नहीं होता है।

ये पास के घरों में, ऑफिसों में, तीर्थ स्थानों पर, छोटे बड़े मंदिर और मस्जिद के आगे भीख मांगते हैं। इन भिखारियों की कमाई किसी छोटे मोटे कर्मचारी से कम नहीं होती है। कई जगह तो जन्मजात भीख मांगने का भी धंधा चलता है। want earn money fifty thousand month read news 

स्लम पर आधारित है उड़ान के पंख

आपको जानकार हैरानी होगी की भिखारियों एवं भीख मंगबाने वाले लोगों की एक गैंग होती है।जो बजावते भिखारियों कि भर्ती करते हैं। उन्हें स्थान के हिसाब से सेलरी दी जाती है। अभी दुबई में हुए एक चौंकाने वाली सर्वे में ये कहा गया है कि यहां के एक भिखारी की सेलरी पचास हजार रूपये है। want earn money fifty thousand month read news 

दुबई में कोई भी भिखारी दिनभर में रेड लाइट पर ढेड़ से दो हजार तक कमा लेता है। इसी क्रम में पता चला है कि भारत का एक भिखारी है जिसके पास लगभग दस थ्री व्हीलर है। जबकि एक भिखारी कुछ दिन पहले अपनी झोपडी में आग लगने से मरा था जिसके पास से भाड़ी संख्यां में जले नोट मिले। want earn money fifty thousand month read news 

एक भिखारी की सेलरी पचास हजार रूपये है want earn money fifty thousand month read news 

वैसे भीख मांगना कानूनी रूप से जुर्म है। फिर भी लोग भीख मांगते भी हैं। यहां तक की वो पुलिस वाले तक को नहीं बख्सते है। इस धंधे में ऐसे बच्चों को लाया जा रहा है जो देश के भविष्य होते हैं। जब कोई किसी के आगे हाथ फैलाता है तो उसे लोग किसी न किसी रूप में कुछ न कुछ दे ही देते है। want earn money fifty thousand month read news 

वैसे भीख मांगने की बात पर कुछ लोग ये तर्क देते हैं कि मांग कर खाने में कोई बुराई नहीं है। इस तर्क पर रहीम जी की लिखी एक दोहा याद आती है।
रहिमन वो नर मर चुके जो कहीं मांगन जाय।
उनते पहले वो मुए जिन मुख निकसत नाही।
लेकिन क्या ये जायज है ? क्या बुद्ध के भिक्षाम देहि,  दान महाकल्याण वाली बात का कहां तक सही है। इस क्षेत्र में कहां क्या काम करना चाहिए ये बहस का मुद्दा बनना चाहिए। भीख मांगने वाले आलसी हो जाते है। उन पैसों का वो नशे आदि गलत कामों में खर्च अधिक करता है। want earn money fifty thousand month read news 
मेहनती मजदूर के बच्चे तो आई एस आदि उच्च पदों पर जाते हैं। लेकिन कभी कभी भिखारी का बच्चा ऐसा काम क्यों नहीं कर पाता है ? इस अनुत्तरित प्रश्न का उत्तर अब आम जनता से लेकर सरकार तक को ढूँढना चाहिए। want earn money fifty thousand month read news 
( हरि शंकर तिवारी )