नितीश की हुई हार, खुलेआम मिल रही है बिहार में शराब




पिछले दिनों बिहार राज्य के गोपालगंज जिले में जहरीली शराब पीने से 18 लोगों की मौत हो गई थी। इस घटना के बाद नितीश सरकार की पोल खुल गई। भले ही नितीश कुमार बिहार में शराब प्रतिबन्ध को सफल बताने के लिए कितने भी दांव लगा ले, लेकिन हककीत ये है की बिहार में आज भी खुले आम शराब मिल रही है। wine killer state bihar 

हालांकि, सीएम नितीश कुमार ने आनन-फानन में गोपालगंज घटना की जाँच के आदेश दिए और तत्काल ही 25 पुलिसकर्मी को ससपेंड कर दिया। नितीश कुमार जी पुलिस कर्मी के ससपेंड करने से शराब पर काबू नहीं पाया जा सकता है। पहले राज्य से जंगल राज को खत्म कीजिए फिर राज्य में कानून का पालन होगा। wine killer state bihar 

बिहार की ही नहीं हमें पुरे देश की परवाह है : नितीश कुमार 

हाल ही में हमने बिहार के लोगों से जानना चाहा की क्या वाकई में बिहार में शराब पर प्रतिबंध है ? इस बाबत बिहार के लोगों का कहना था की ये बस किताबी बात है। आज भी बिहार में शराब आसानी से मिल जाती है। हालांकि, इसके लिए आपको कीमत से अधिक मूल्य चुकाना पड़ेगा। wine killer state bihar 

ये अधिक मूल्य 1500 रूपये से लेकर 3500 तक है। जबकि शराब बिक्री थानेदार के सहयोग से किया जाता है। इस बिक्री में थानेदार और थाना शामिल रहता है। जब कभी ऊपर से दबाब आता है तो केवल शराब की बोतले जब्त की जाती है और रिपोर्ट में ये बताया जाता है की आरोपी घटना स्थल से फरार हो गया था। मतलब साफ है की शराब प्रतिबंध की आड़ में पुलिस को कमाने का एक और अवसर प्राप्त हो गया है। wine killer state bihar 

नितीश कुमार को पीएम बनने के सपनों को त्यागना होगा wine killer state bihar 

शराब पर प्रतिबंध होने के कारण लोग जहरीली शराब पीने से भी परहेज नहीं करते है। इसका ताजा मामला गोपालगंज से ही है। जंहा एक आरोपी जो कई संगीन अपराध मामले में जेल में बंद था। ये आरोपी जेल से रिहा हुआ था और जेल से छूटने की ख़ुशी में विजय बहादुर ने जमकर शराब पी, जिसके बाद विजय बहादुर की तबियत बिगड़ गई। विजय के परिवार वाले विजय को लेकर गोपालगंज सिटी हॉस्पिटल पहुंचे। जंहा विजय की हालत और बिगड़ गई जिस कारण हॉस्पिटल वालों ने विजय को गोरखपुर रेफर कर दिया लेकिन विजय ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। wine killer state bihar 

गोपालगंज में 18 लोगों की मौत के बाद भी नितीश सरकार सजग नहीं हुई जिस कारण एक और मौत हो गई। जानकारों की माने तो जबसे बिहार में शराब पर प्रतिबंध लगा है हर रोज जहरीली शराब पीने से लोग अपनी जान गँवा रहे है। शराब पर प्रतिबंध लगाने से राज्य का विकास नहीं होगा। बिहार में विकास दो शर्तो पर होगा एक तो मुख्यमंत्री नितीश कुमार को पीएम बनने के सपनों को त्यागना होगा दूसरा बिहार से जंगल राज्य को समाप्त करना होगा।  wine killer state bihar 
( प्रवीण कुमार )