देश की सेना नपुंसक है : गुरमेहर कौर




रामजस कॉलेज में हिंसक मामले के बाद गुरमेहर ने सोशल साइट पर I HATE ABVP की कैंपेन चलाई थी। जिस कैंपेन से देश दो खेमे में बंट गया था और देश की जनता ने कारगिल युद्ध के शहीद कप्तान मनदीप सिंह की बेटी की जमकर आलोचना की थी। सोशल साइट पर लोगों ने आलोचना करते हुए कहा था, एक शहीद की बेटी से ऐसी उम्मीद नहीं थी। गुरमेहर कौर के इस बयान के बाद देश दो खेमे में बंटा और देखते-देखते ही नेता, अभिनेता और खिलाड़ी भी इस मुहीम में कूद पड़े। लोगों की तीखी प्रतिक्रिया को देखकर गुरमेहर ने अपना नाम कैंपेन से वापस ले लिया था। women day gurmehar kaur tweet

तुम्हे हीरो बनने की जरुरत नहीं है

गुरमेहर ने ट्वीट कर कहा था कि मैं अब इस कैंपेन से अपना नाम वापस ले रही हूँ। लोगों के प्यार और समर्थन से मैं बहुत खुश हूँ, पर मामला शांत नहीं हुआ। अंततः देश के राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने अपने भाषण के जरिये युवाओं से अनुरोध किया था कि अभिव्यक्ति की आजादी का दुरपयोग न करे। यदि किसी मामले को लेकर संशय है तो उस पर डिबेट कर सुलझाएं। राष्ट्रपति के द्वारा अनुरोध के बाद मामला शांत होता दिखा। लेकिन इस मामले को आज महिला दिवस पर फिर से हवा मिली। जब गुरमेहर कौर ने सोशल साइट ट्विटर पर एक सन्देश लिखा कि देश की सेना हीरो नहीं है और हमें इन्तजार नहीं करना चाहिए। हमें खुद हीरो बनना चाहिए। यदि ऐसा हम करते है तो देश का भला होगा और हमारी मांगे भी हम खुद पूरी कर सकते है। women day gurmehar kaur tweet

देश विरोधी तत्वों को सहवाग ने दिया मुहतोड़ जबाब

गुरमेहर कौर के इस ट्वीट के बाद सोशल साइट पर यूजर्स ने तीखी आलोचना की। एक यूजर्स ने लिखा ” देश शर्मिंदा है की एक शहीद के बेटी देश को बदनाम करने पर तुली है। हालांकि, आपके पापा देश के नायक थे लेकिन आपने उनका नाम मिटटी में मिला दिया। वही एक अन्य यूजर्स ने लिखा, तुम्हे हीरो बनने की जरुरत नहीं है। तुम देश के विरोधियों के हीरो हो। women day gurmehar kaur tweet

( प्रवीण कुमार )