योगी की अयोध्या यात्रा और राम पूजा से विपक्ष में खलबली




उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुंचे। जिसके बाद विरोधियों में खलबली मच गई है कि क्या भाजपा अब मंदिर निर्माण के लिए कदम बढ़ा रही है। योगी आदित्यनाथ अयोध्या जाकर रामलल्ला का दर्शन किए। वहां उनके पहुंचते ही जय श्रीराम के नारे लगने लगे। मुख्यमंत्री सरयू नदी में जाकर पूजा अर्चना की। जिस प्रकार से अयोध्या में राम मंदिर बनाने को लेकर उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि इसे सामाजिक समरसता के साथ आपस में बैठकर मसले को सुलझा लेना चाहिए। yogi ayodhya visit 

उमा भारती पर कोर्ट में सुनवाई चल रही है

जिसके बाद कई मुस्लिम संगठन आगे आकर यह भी कहा है कि यहां मंदिर बनना चाहिए। लेकिन अभी मुस्लिमों के बड़े संगठन इसका विरोध किया है। लेकिन जैसे ही उत्तर प्रदेश में भाजपा सत्ता में आई तो इसके बाद साफ होने लगा कि अब तो मंदिर बन ही जाएगा। जिसकी प्रतिक्षा थी। योगी आदित्यनाथ के अयोध्या पहुंचने पर इसके कई अर्थ निकाले जाने लगे। yogi ayodhya visit 

मुख्यमंत्री माहौल को देखने में लगे हैं

क्या मुख्यमंत्री मंदिर बनाने की पहली सीढ़ी चढ़ने आए हैं। जिसको लेकर विरोधियों में खलबली है। अगर भाजपा मंदिर बना देती है तो तय है कि पार्टी का जनाधार और तेजी से बढ़ेगा। वहीं चुनावी वादे पूरे होने का जिसे जुमला कहा जाता है पूरा होगा। ऐसे भाजपा बार बार कह रही है कि मंदिर निर्माण उनके चुनावी एजेंडे में नहीं था। मंदिर आस्था का विषय है और यह मसला उच्चतम न्यायालय में है। yogi ayodhya visit 

राम मंदिर निर्माण के लिए जेल क्या शूली भी चढ़ जाउंगी : उमा भारती

इसलिए अभी जो कुछ भी होगा वहीं से होगा। लेकिन जिस प्रकार से मुख्यमंत्री ने अय़ोध्या दौरा किया है ऐसा माने जाने लगा है कि जल्द ही मंदिर निर्माण के लिए भाजपा आगे बढ़ रही है। मुख्यमंत्री यहां जाकर माहौल को देखने में लगे हैं। मुख्यमंत्री इस इलाके के विकास का रास्ता भी तलाश रहे हैं जिससे यह इलाका विकसित हो जाए। गौरतलब है कि दूसरी तरफ बाबरी मस्जिद मामले में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती पर कोर्ट में सुनवाई चल रही है। yogi ayodhya visit