मोदी के सलाह पर योगी ने नीतीश कुमार से बढ़ाई नजदीकी




उत्तर प्रदेश में लगातार कानून व्यवस्था को सुधारने के साथ ही कई ऐसे सुधार कार्य किए जा रहे हैं जिससे की प्रदेश में सबका विकास हो। इसके लिए बिहार जैसे राज्यों की अच्छाई को अपनाने की कोशिश हो रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार बिहार की राजनीति पर पहले से ही नजर रखे हुए थे, जिस प्रकार से वहां पिछले बारह सालों से नीतीश कुमार ने सुशासन के साथ शासन चलाया है वह किसी के लिए अऩुकरणीय है। इसका लाभ कोई भी लेना चाहेगा। yogi following nitish program 

जनता दरबार कोई भी जाए उसे न्याय मिलता है

नीतीश कुमार कानून व्यवस्था के साथ साथ जिस प्रकार से अपने जनता दरबार लगाते हैं उसकी सभी प्रशंसा करते हैं। योगी आदित्यनाथ बिहार में अपने मंत्रियों को अनाज बांटने के लिए कूपन सिस्टम सीखने के लिए जाने को कहा है। इससे दो चीजें एक साथ सध जाएगी। जहां बिहार में बेहतरीन सिस्टम लागू को उत्तर प्रदेश में लागू कर सकते हैं वहीं दूसरी और नीतीश कुमार की भाजपा के और नजदीक भी लाया जा सकता है। yogi following nitish program 

योगी आदित्यनाथ को पता है कि नीतीश कुमार ने किस प्रकार से जंगल राज से बिहार को निकाला है। उसी प्रकार से योगी के लिए उत्तर प्रदेश काफी चैलेंज प्रदेश है। जिसके लिए पड़ोस से सीख ले। क्योंकि दोनों प्रदेश की अपराधी एक ही मानसिकता के हैं जो कहीं ना कहीं से सीधे तौर पर प्रशासन से जुड़े होते हैं। योगी आदित्यनाथ भी बिहार की तर्ज पर जनता दरबार की शुरूआत की है लेकिन इनके दरबार में काफी अफरातफरी मची रही। yogi following nitish program 

कश्मीर हमारा है जिसे आजादी चाहिए वो मुल्क छोड़ दें : गौतम गंभीर

वहीं बिहार में जनता दरबार की कोई भी जाए उसे न्याय मिलता है। जिससे कोई भी सीखने को तत्पर हो जाता है। बिहार के मुख्यमंत्री ने पंचायत चुनाव में महिलाओं को आरक्षण और शराबबंदी लागू कर देश में एक आदर्श स्थापित किया है निश्चिततौर पर योगी आदित्यनाथ भी उसी तर्ज पर यहां लागू करना चाहते हैं जिससे इनकी नजर खुद व खुद बिहार की ओर है और वे अपने मंत्रियों को यहां भेज रहे हैं। yogi following nitish program