चीन: मुस्लिमों के दाढ़ी रखने-बुर्का पहनने पर बैन तो भारत में अवैध बूचड़खाने पर बबाल क्यों।




हर देश की अपनी नीति होती है जिसके तहत कार्य करता है। कूटनीति के तरीके अपनाकर देश को सुरक्षित रखा जा सकता है। चीन मे मुस्लिमों के दाढ़ी रखने और बुर्का पहनने पर बैन कर दिया गया है। चीन को पता है कि किसी भी राष्ट्र को किस हद तक रखा जाए। अगर मुस्लिम को मौका देंगे तो उन्हें भी ऐसे ही खामियाजा भुगतना पड़ेगा जैसे अन्य राष्ट्र को भुगतना पड़ रहा है। yogi govt ban illegal cow slaughter

धर्म पर प्रतिबंध नहीं है

भारत में अवैध बूचड़खाने पर भी कार्रवाई हुई है। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कमान संभालते ही त्वरित तरीके से यह कार्य किया जिससे कई तरह की परेशानी पैदा हुई। दोनों तरह की प्रतिक्रिया आई। लेकिन ज्यादातर लोगों ने योगी आदित्यनाथ की सराहना की। अवैध बूचड़खाने से कई तरह की समस्या पैदा होती है। कई तरह की तस्करी के मामले सामने आते हैं। जब सरकार इसके लिए लाइसेंस देती है तो क्या समस्या है। आखिर क्यों बिना इजाजत के ऐसे बूचड़खाने चलाए जा रहे हैं। सरकार अपना कार्य तो करेगी ही। जो कर रही है। yogi govt ban illegal cow slaughter

कोई अन्य सरकार अगर कार्य नहीं किया तो इसका मतलब यह नहीं है कि अभी गलत हो रहा है। अवैध बूचड़खाने के आड़ में कई तरह की अवैध कार्य भी होते हैं जिसपर प्रतिबंध लगाना सरकार का काम है जो कर रही है। जिससे देश में कानून व्यवस्था का राज भी चलता रहता है। अगर अवैध तरीके से एक क्षेत्र में छूट दे दी जाएगी तय है कि अन्य क्षेत्रों में भी इसी तरह के अवैध कार्य होंगे। जिसका खामियाजा राष्ट्र को भुगतना पड़ता है। yogi govt ban illegal cow slaughter

मोहन भागवत हो सकते हैं देश के अगले राष्ट्रपति

सबसे खास बात यह है कि यह कोई धर्म पर प्रतिबंध नहीं है जिसके लिए हो हल्ला मचाया जा रहा है। अगर धर्म पर प्रतिबंध होता तो कहा जा सकता कि यह गलत निर्णय है। अवैध बूचड़खाने पर हो हल्ला मचाना केवल और केवल राजनीति का हिस्सा है जिसकी आड़ में राजनीतिक रोटियां सेंकना चाहती हैं राजनीतिक दल। yogi govt ban illegal cow slaughter