यदि आज़म खान दोषी है तो उसे बख्शा नहीं जाएगा : योगी




उत्तर प्रदेश सरकार लगातार इस कोशिश में है कि किसी भी प्रकार से धार्मिक संस्थाओं के पैसे का दुरुपयोग न हो। इसी मद्देनजर वक्फ बोर्ड में हुए घोटालो की जांच के आदेश दिए हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में शिया और सुन्नी वक्फ बोर्डों में हुए घोटालों की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की है। yogi govt slams waqf board 

वक्फ बोर्डों में हुए करोड़ों के घोटाले उजागर होंगे

गौरतलब है कि इन बोर्डों में मुख्य रूप से पंरपरागत रूप से कब्जा किया जाता है। जिसके अंतर्गत करोड़ों रुपए के जमीन का हेरफेर भी होता है वहीं इस बोर्ड के तहत कई तरह के व्यापार किए जाते हैं जिसको लेकर सरकार सजगता दिखाई है। गौरतलब है कि पूर्व मंत्री व समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान पर वक्फ बोर्ड के जमीन का दुरुपयोग का आरोप लगा था जिसकी जांच चल रही है। yogi govt slams waqf board 

घोटाले की जांच वक्फ काउंसिल ऑफ इंडिया कर रही है

अब जब सरकार ने इसे सीबीआई को जांच सौंपी है तो सभी जांच अब वहीं होगी। प्रदेश के वक्फ राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने यह बताया है कि वक्फ संपत्तियों के करोड़ों रुपए के घोटाला मामलों की जांच सीबीआई से कराने का फैसला किया है। सरकार ने दोनों ही बोर्ड यानी सिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड को भंग करने के आदेश भी दे दिए हैं। तत्काल रूप से कोई हेड इसमें नहीं होगा, सभी सरकार के हाथों में होगी। yogi govt slams waqf board 

गौरतलब है कि घोटाले की जांच वक्फ काउंसिल ऑफ इंडिया कर रही है जिसने वक्फ संपत्तियों को गैर कानूनी तरीके से खऱीदे और बेचे जाने के शिकायत को सही पाया है। उस समय ही सरकार ने कहा था कि इसकी जांच सीबीआई या अन्य एजेंसियों के कराई जा सकती है। yogi govt slams waqf board 

नितीश कुमार और लालू भगवा बिहारी से डरे हुए है : योगी

निश्चिततौर पर सरकार ने जिस तरह से कदम उठाए हैं तय है कि इससे वक्फ बोर्डों में हुए करोड़ों घोटाले तो उजागर होंगे ही साथ में अभी तक माफिया के रूप में जमे हुए एक ही परिवार के सदस्यों का भी उजागर होगा। इससे आने वाले दिनों में धार्मिक स्थलों पर भ्रष्टाचार पर रोक लगेगी। yogi govt slams waqf board