मोदी और योगी ने यादवों का जीना हराम कर दिया है !

 





उत्तर प्रदेश सरकार अब पिछली सरकार में हुए घोटाले की जांच कर रही है। जिसमें जनता के पैसे का दुरुपयोग किया गया है। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार अखिलेश यादव सरकार द्वारा दिए गए ठेकों की जांच करा रही है। इसके लिए विस्तृत विशेष ऑडिट कराने का फैसला किया गया है। गौरतलब है कि अखिलेश यादव सरकार में बहुत सारे ऐसी योजनाओं में घोटाले हुए जहां बहुत कम पैसे में कार्य हो जाता है वहां काफी खर्च किया गया। yogi inquired sp govt snake catching scam

yogi inquired sp govt snake catching scam इसमें पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सीधे फंस सकते हैं

योगी आदित्यनाथ सरकार आडिट में यह पता लगायेगी की कहीं लागत बढ़ा चढ़ाकर दिखाया तो नहीं गया। ठेके नियम से दिए गए या नहीं। बिना मंजूरी मिले भी कुछ कार्य हुए हैं इसकी भी जांच की जाएगी यहा तक कि एक पार्क में सांप पकड़ने के लिए नौ करोड़ रुपए खर्च किए गए इसकी भी विशेष जांच की जाएगी।गौरतलब है कि अखिलेश यादव की सरकार की तीन महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में कथित धांधली की शिकायतें मिली है। इन आरोपों पर विशेष जांच की जाएगी। जिसमें जनेश्वर मिश्रा पार्क परियोजना में बीस बास लाख रुपए की नावें खऱीदना, 14 करोड़ रुपए की घास लगाना और भूविकास पर और पार्क में सांप पकड़ने के लिए नौ करोड़ खर्च करना शामिल है। yogi inquired sp govt snake catching scam

यह दाल नहीं पथरी का काल है

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनेश्व मिश्रा पार्क और जयप्रकाश नारायण इंटरनेशनल सेंटर के निर्माण में आई लागत पुराने लखनऊ के हुसैनाबाद इलाके के विस्तार के खर्च की विस्तृत ऑडिट के आदेश दे दिए हैं। गौरतलब है कि इन तीन परियोजनाओं का काम सीधे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की निगरानी में हुआ था। ऐसा कहा जा रहा है कि अखिलेश यादव अपने खास आदमियों को लाभ पहुंचाया है जिसकी जांच हो रही है। yogi inquired sp govt snake catching scam 





योगी आदित्यनाथ ने इन तीन परियोजनओं की जांच के लिए तीन अलग अलग कमेटियां बनाई। जो कमेटी ने पिछले हफ्ते विशेष ऑडिट की अनुशंसा की थी। जिस तीन परियोजना में कार्य किए गए वहां अब भी कार्य अधूरा है। योगी आदित्यनाथ ने शपथ लेते ही कहा था कि उनके कार्य की प्राथमिकता है भ्रष्टाचार मुक्त सरकार। जिसमें पिछली सरकार अगर कार्य पूरा नहीं किया है और पेमेंट किए हैं तो इसकी भी जांच की जाएगी। yogi inquired sp govt snake catching scam

मोदी बेरोजगार है इसलिए केवल भाषण देते रहते है : तेजस्वी यादव

भ्रष्टाचार की जांच शुरुआत होने पर ही पूर्व मंत्री शिवपाल यादव तीन बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिल चुके हैं। कयास लगाया जा रहा है कि अपने स्पष्टीकरण देने के लिए भी वे बार बार मुख्यमंत्री से मिल रहे हैं। लेकिन अभी जो योगी आदित्यनाथ ने जो जांच के आदेश दिए हैं इसमें पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सीधे फंस सकते हैं। yogi inquired sp govt snake catching scam

loading…