केजरीवाल सरकार के विधायक निकम्मे है : सर्वे





दिल्ली के विधायको का हुआ सर्वे ज्यादातर विधायक फिसड़ी निकले। प्रजा फाउंडेशन नाम के एक एनजीओ ने पहली बार दिल्ली के विधायको के काम काज का मूल्यांकन किया। अब तक यह एनजीओ मुम्बई के विधायको के काम काज का सर्वे करता आया हैं इस एनजीओ ने फरवरी 2015 से लेकर दिसंबर 2015 के तक की दिल्ली में आप विधायको के कामकाज का सर्वे किया जिसमे 70 में से 58 विधायक विधायक निक्कमे पाए गए। aap mla misusing indian law

दिल्ली से जुड़े मुद्दों को उठाने के मामले में सदन में , 72% विधायको का पायदान औसतन निचे रहा। और 3 विधायक तो ऐसे निकले जिन्होंने विधानसभा में कोई मुद्दा ही नहीं उठाया था। और 16 विधायक ऐसे हैं जिन्होंने 1 से 5 मुद्दे ही उठाये थे सदन में। दिसंबर 2015 तक 20 विधायको का आपराधिक रिकॉर्ड था । aap mla misusing indian law

केजरीवाल रविन के परिवार से मिलने बिसाहड़ा जाएंगे !

इनमे 10 विधायको के खिलाफ तो 2015 के विधानसभा चुनाव के पहले के ही थे जबकि 10 के खिलाफ चुनाव के बाद केस दर्ज हुआ। इस सर्वे में करीब 30000 हजार लोगो की राय ली गयी। इस रिपोर्ट कार्ड में कृष्णा नगर से आप विधायक एस. के. बग्गा टॉप पर रहे जबकि दूसरे नंबर पर मुसलतफाबाद से बीजेपी विधायक जगदी प्रधान रहे। aap mla misusing indian law

केजरवील सरकार ने दिल्ली के लोगों को धोखा दिया है

ये तो जगजाहिर है अब सर्वे टीम भी इस बात की पुष्टि कर रही है। केजरवील सरकार ने दिल्ली के लोगों को धोखा दिया है। आज दिल्ली की जनता खुद को ठगा हुआ महसूस कर रही है। केजरवाल ने न केवल धन बटोरा है बल्कि दिल्ली राजस्व विभाग में जमकर चुना भी लगाया है। यदि सर्वे से इस बात का खुलासा हो रहा है तो इसमें आश्चर्य की बात नहीं है। aap mla misusing indian law

केजरीवाल के विधायक हर कला में निपुण है, जिसका परिणाम आज लोगों की बीच है। अब तक 12 विधायक जेल की हवा खा चुके है। फिर भी केजरीवाल खुद को ईमानदार व्यक्ति की संज्ञा दे रहे है। केजरीवाल के सानिंध्य में जिसको जो मिला है उसने बटोरा है। तभी तो दिल्ली सरकार को हर महीने सुप्रीम कोर्ट से फटकार मिल रहा है। aap mla misusing indian law
( सलोनी पांडेय )




Web Statistics