अमेरिकी विदेश मंत्री का चीन को करारा जबाब




भारत दौरे पर आए अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने स्पष्ट किया की वह भारत को एनएसजी में सदस्यता दिलाने के पक्ष में हैं जिसका पुरज़ोर विरोध करने वाली चीन को उन्होंने फटकार भी लगाई हैं। केरी ने कहा की चीन के समर्थन न देने की वजह से ही भारत अभी तक एनएसजी का सदस्य नई बन पाया हैं केरी ने यह कहा की वह इस जी-20 सम्मेल्लन के दौरान इस विषय में बात करेगा। american minister india tour

केरी ने यह भी कहा की वह व्यक्तिगत तौर पर भी वह इस पर कड़ी मेहनत कर रहे हैं उन्होंने बताया की बराक ओबामा भी यही चाहते हैं की भारत जल्द ही एनएसजी का सदस्य बने।

एक अंग्रेजी अख़बार को दिए गए इंटरव्यू में जॉन केरी ने कहा की अमेरिका पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और पाकिस्तानी आर्मी चीफ राहिल शरीफ पर इसी बात को लेकर दबाव बना रहा हैं की वह आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करे। american minister india tour

अमेरिका का दबाब ही चीन को झुका सकता है american minister india tour

अमेरिका ने यह साफ़ कर दिया हैं की वह चाहता हैं की इस साल के अंत तक भारत को एनएसजी की सदस्यता मिल जाये। वही पीएम मोदी के दो वर्ष के कार्यकाल में एक बार फिर पीएम मोदी और बराक ओबामा आमने सामने होंगे। american foreign minister india tour  
पाकिस्तान के होंगे दो टुकड़े, अलग देश बनेगा बलूचिस्तान

5 सितम्बर को चीन में जी20 का सम्मेलन होना है और इसी अवसर पर दोनों नेता मिलेंगे। अमेरिका ने जोर देते हुए कहा है कि भारत को एनएसजी में सदस्यता दिलाने के लिए अमेरिका एनएसजी समूह के सभी देशों पर दबाब बनाएगा। चीन का भी इस अवसर मान जाने की सम्भावना है। american foreign minister india tour  

हालांकि, इसकी सम्भावना बहुत कम है की चीन एनएसजी समूह में सदस्यता के लिए भारत का समर्थन करेगा क्योंकि चीन ने इससे पहले भी इस तरह के अवसर पर सहमति जता कर ऐन मौके पर अपने वादों से मुकर चूका है। ऐसे में अब अमेरिका का दबाब ही चीन को झुका सकता है। american minister india tour
( सलोनी पांडेय )



Web Statistics