अगर नितीश पसंद नहीं तो गठबंधन से अलग हो जाएं राजद !





बाहुबली के बाहर आने से बिहार में राजनैतिक समीकरण उलझता जा रहा है। जिस जंगलराज को स्थापित करने की कोशिश राजद ने पिछले साल से की है वो अब खुलकर सामने आने लगी है। बिहार में 2005 के बाद पहली बार अराजकता फैली है।

चारों ओर चोरी, डैकती, हिंसा, अपहरण और हत्या आदि व्याप्त है। इस सबके बीच बिहार के बाहुबली और लालू का दाहिना हाथ माने जाने वाले शहाबुद्दीन पिछले सप्ताह जेल से छूटकर बाहर आये है। bihar grand alliance will broken 

शहाबुद्दीन के बाहर आते ही राजद की पोल खुल गई है। स्वंय नितीश कुमार को भी इस बात का आभास हो चूका है कि राजद सुप्रीमो असल में नितीश कुमार से क्या चाहते है। लालू यादव बिहार में फिर से जंगल राज स्थपित करना चाहते है और इस बाबत महागठबंधन में सेंध लग गई है। bihar grand alliance will broken 

लालू यादव की मंशा को भांपते हुए जदयू के प्रवक्ता ने कहा है कि यदि लालू यादव को नितीश पसंद नहीं है तो वो गठबंधन से अलग हो सकते है। हमें कोई गिले शिकवे नहीं है। जंहा तक बात है बिहार सरकार की तो उसके लिए कोई न कोई कदम जरूर उठाया जाएगा। bihar grand alliance will broken 

बिहार में अब बबाल जरूर मचेगा bihar grand alliance will broken 

यदि नितीश सरकार की बात की जाए तो महागठंबधन में बने रहने से नितीश को अगले बिहार विधान सभा चुनाव में नुकसान उठाना पड़ सकता है। यदि राजद तत्काल महागठबंधन से अलग होता है तो केवल सरकार गिरेगी लेकिन बिहार में फिर से शांति स्थापति हो जाएगी। बीजेपी ने भी इस बात की पुष्टि कर दी है कि यदि नितीश कुमार महागठबंधन से अलग हो जाते है तो उनके लिए बीजेपी का दरवाजा अब भी खुला है। bihar grand alliance will broken 

ऐसे में नितीश कुमार बीजेपी से एलाइंस कर सरकार बना सकते है। अब बात राजद की है तो वो किसी भी हालत में महागठबंधन से अगल नहीं होगी क्योंकि लालू यादव को पता है कि यही वो दिन और पार्टी है जो बिहार में लालू परिवार को सत्ता की चाभी दिला सकती है। बारी तो नितीश कुमार की है को वो जिस तरफ चाहे उस तरफ बिहार की हवा बहेगी पर सोचना नितीश को है ? bihar grand alliance will broken 

बिहार में सियासी जंग और तेज हो गई bihar grand alliance will broken 

बिहार में बाहुबली के बाहर आने से सियासी घमासान तेज हो गई है। जंहा विपक्षियों ने जमकर नितीश को घेरा है वही खुद बाहुबली ने भी नितीश का मजाक उड़ाया है। अब बाहुबली को लेकर नितीश सरकार पूरी तरह से सख्त दिख रही है। bihar grand alliance will broken 

नितीश सरकार ने बाहुबली शहाबुद्दीन की जमानत को हाई कोर्ट में फिर से चुनौती देने की बात कही है। नितीश सकरार की इस करवाई पर बाहुबली ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि मैं किसी से डरता नहीं हूँ जिसको जो करना है करें।

मुझे जो अच्छा लगता है वो मैं करता हूँ। एक बार पुलिस केस को प्रूफ कर चुकी है कि पत्रकार के मर्डर में मेरा कोई हाथ नहीं था अब मेरे बाहर आने पर इस पर सियासत नहीं होनी चाहिए। फिर भी यदि किसी को कोई शक है तो अदालत में आवेदन दें, मामले की जाँच कराएं। bihar grand alliance will broken 

नितीश सरकार बाहुबली को सबक सिखाने में जुट गई है bihar grand alliance will broken 

आपको बता दें पत्रकार राजदेव की हत्या के मामले में शहाबुद्दीन पिछले 11 साल से जेल में बंद थे जब शहाबुद्दीन बाहर आये तो उन्होंने लालू यादव की बड़ाई करते हुए कहा था कि उनका नेता लालू यादव है, नितीश तो परस्थिति वश बिहार के मुख्यमंत्री बने है। शहाबुद्दीन के इस बयान के बाद बिहार में सियासी जंग और तेज हो गई। इस बाबत नितीश कुमार ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि ये शहाबुद्दीन का वैयक्तित्व राय है। bihar grand alliance will broken 

नितीश कुमार ने जूस में शराब मिलाकर पीने के संकेत दिये

हालांकि, नितीश कुमार इस सम्बन्ध में अधिक कुछ नहीं बोले, लेकिन नितीश सरकार के कैबिनेट मीटिंग और अब जमानत को चुनौती को लेकर ऐसा लगता है कि नितीश सरकार बाहुबली को सबक सिखाने में जुट गई है। शहाबुद्दीन की जमानत को चुनौती की बात को लेकर न केवल बाहुबली शहाबुद्दीन सकते में आ गए है बल्कि लालू यादव भी चिंतित है। bihar grand alliance will broken 

सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि कांग्रेस ने लालू के बाहुबली के प्रति नरमी को देखते हुए महागठबंधन से अलग होने की बात नितीश कुमार के समक्ष रखी है। हालांकि, कांग्रेस के अलग होने के बाद भी नितीश सरकार बनी रहेगी लेकिन एक बात तो तय है कि बाहुबली के बाहर आने से बिहार में अब बबाल जरूर मचेगा।  bihar grand alliance will broken 
( प्रवीण कुमार )




Web Statistics