मदारी लालू के फेर में बन्दर बन रह गए नितीश कुमार




यश शर्मा द्वारा फेसबुक पर जारी की गई। यह तस्वीर कुछ-कुछ हकीकत बयां करती है। माय समीकरण को लेकर नितीश कुमार ने सर्वप्रथम बीजेपी से अपना नाता तोड़ लिया। अब बिहार में जंगलराज स्थपित कर दिया है। bihar jangle raj still going 

बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार जबसे पद पर काबिज हुए है, प्रदेश में कुछ भी अच्छा नहीं बीत रहा है। हालात ये है की देश भर में बिहार एक बार पुनः बदनामी की दहलीज पर है । जबकि बिहार में जंगल राज पुनः स्थापित हो गया है। bihar jangle raj still going 

आज से दस वर्ष पूर्व भी बिहार की स्थिति कुछ ऐसी ही थी। जब बिहार में राजद पार्टी की सरकार थी। अब 2016 में सीएम नितीश कुमार के नेतृत्व में बिहार की जंगलराज की पुनरावर्ती के मार्ग पर अग्रसर है। bihar jangle raj still going 

बिहार में जंगल राज पुनः स्थापित हो गया हैbihar jangle raj still going 

बिहार में पुनः जंगलराज स्थापित करने में सीएम नितीश कुमार का विशेष और महत्वपूर्ण योगदान है। ओछी राजनीति के कारण आज बिहार में जंगलराज स्थापित हुआ है। बिहार में चारो तरह त्राहि माम मचा हुआ है। इसके सूत्रधार राजद और नितीश कुमार है। bihar jangle raj still going 

हालांकि, बिहार ने विकास दर में बढ़ोत्तरी की है, पर जब बात आती है लॉ एंड आर्डर की तो पुलिस की टॉय-टॉय फिस हो चुकी है।बिहार में आये दिन एसपी, डी आई जी, कलेक्टर जैसे अधिकारीयों से हफ्ता और रंगदारी मांगी जाती है। इस तथ्य से अनुमान लगा सकते है कि बिहार में किस तरह का लॉ एंड आर्डर है। bihar jangle raj still going 

बिहार की तरह से होगा बीजेपी मुक्त भारत का निर्माण : नितीश कुमार

यदि सीट के आंकड़ों को देखा जाये तो सीएम नितीश कुमार का मौनी बाबा का रूप धारण करना लाजमी है। बिहार के महागठबंधन सरकार में राजद सबसे अधिक सीट जीतकर शीर्ष पर है। जिस कारण नितीश सरकार में लॉ एंड आर्डर जंगलराज के जन्मदाता की चलती है। bihar jangle raj still going 

इस परिस्थिति में नितीश कुमार राजद से बगावत नहीं कर सकते है। यदि बगावत करते है तो सरकार गिर जाएगी। इस एवज सीएम नितीश कुमार अब राजद के हाथो की कठपुतली बनकर रह गया है। जब चाहे जिधर नचाये और घुमाए।कुछ इस तरह का ही दृश्य इस पिक्चर में है। जिसमे लालू मदारी बना है। जबकि सीएम नितीश कुमार बन्दर बना है। bihar jangle raj still going 
( प्रवीण कुमार )



Web Statistics