बिहार में पत्रकार राजीव रंजन के बाद आरपीएफ जवान की हत्या bihar-jungleraaj-and-murder





न्यूज़ डेस्क,

बिहार में गुंडागर्दी थमने का नाम नहीं ले रहा है। कुछ दिन पूर्व ही रोड रेज में एक व्यवसायी के पुत्र को जान से हाथ धोना पड़ा। बिहार के हालात दयनीय है, बिहार में कोई भी आज सुरक्षित नहीं है। एक घटना के तुरंत बाद दूसरी घटना घटित हो जाती है। नितीश सरकार के बने कई महीने बीत गए किन्तु प्रशासन दिन व् दिन और भी लचर होती जा रही है। इसी क्रम में कल सिवान में दैनिक हिंदुस्तान के ब्यूरो चीफ राजदेव रंजन की हत्या कुछ अज्ञात शस्त्रधारियों ने कर दी। इस घटना के कुछ घंटो बाद ही बक्सर में आरपीएफ के दो जवानों को अज्ञात बंदूकधारियों ने गोली मार दी। जिसमें एक जवान की मृत्यु घटनास्थल पर हो गई जबकि दूसरे जवान का उपचार चल रहा है। bihar-jungleraaj-and-murder

सिवान पुलिस ने पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या के संदर्भ में दो लोगों को गिरफ्तार की है। किन्तु आरपीएफ जवान पर गोली चलाने वाले घटना में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है। पुलिस मूक दर्शक बन बैठी है। एक के बाद एक घटना बिहार में घटित हो रहा है। किन्तु सरकार और पुलिस केवल हाथ पे हाथ धर बैठी है। शायद, पुलिस को अपने परिवार की परवाह है। जिस कारण पुलिस कोई एक्शन नहीं लेना चाहती है। bihar-jungleraaj-and-murder

बीजेपी प्रवक्ता ने दोनों घटना के लिए बिहार सरकार पर आरोप लगाया है कि बिहार में जंगल राज है। कोई सुरक्षित नहीं है। जब रक्षक ही भक्षक बन जाए तो ये माहौल पैदा होना जायज है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री बनने के ख्वाब में नितीश कुमार को बिहार में मन नहीं लगता है। bihar-jungleraaj-and-murder

वही विपक्ष के नेता और बीजेपी सदस्य सुशील कुमार मोदी ने कहा कि अब मुझे भी बिहार में रहने से डर लगता है। बिहार में कोई सुरक्षित नहीं है। इसके जिम्मेवार सिर्फ नितीश सरकार है।

आपको बता दें कि नितीश सरकार के विधायक आरोपी मनोरमा देवी को पुलिस अभी तक गिरफ्तार करने में नाकाम रही है। हालांकि, नितीश कुमार ने आरोपी मनोरमा देवी को पार्टी से बाहर निकाल दिया है। किन्तु बिहार प्रशासन कितनी लचर है वह इस बात से पता लगाया जा सकता है कि आरोपी विधायक मनोरमा देवी के घर पर शराब बरामद हुआ। जबकि बिहार में शराब पर प्रतिबंध है। गया रोड रेज घटना में आरोपी विधायक मनोरमा देवी के बेटे रॉकी और पति बिंदी यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है। किन्तु आरोपी मनोरमा देवी अभी भी पुलिस के गिरफ्त से बाहर है। जबकि आरोपी विधायक मनरोमा देवी ने अपनी जमानत के लिए कोर्ट में याचिका भी दायर कर दी है। बिहार में पत्रकार राजीव रंजन के बाद आरपीएफ जवान की हत्या bihar-jungleraaj-and-murder




Web Statistics