क्या यूपी में शीला को मिलेगा ब्राह्मणों का साथ या राजपूतों से होगा बीजेपी का बेड़ा पार





उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव अगले वर्ष होना है ये राजनितिक पार्टियों के लिए महासंग्राम जैसा होगा, जंहा जीत उसी की होगी जिसे जनता जनार्दन चुनेगी। यूपी चुनाव राजनितिक पार्टियों के लिए ऐसा महासंग्राम है जंहा एक नहीं दो नहीं बल्कि चार प्रमुख पार्टियों एक दूसरे से मुकाबला करेगी। एक ओर जंहा यूपी में तमिलनाडु के तर्ज पर जनता सरकार बनती है। वही मोदी लहर का फैक्टर इस बार विशेषज्ञों की चुनावी गणित को गलत साबित कर सकता है।bjp will win uttar pradesh assembly election

हालांकि, बीजेपी ने अभी तक तुरुप के पत्ते को नहीं खोला है। जबकि सपा, बसपा और कांग्रेस ने अपने मुख्यमंत्री उम्मीदवार की घोषणा कर दी है। जंहा सपा और बसपा से विशेष बदलाव की उम्मीद नहीं थी और सपा और बसपा ने उसी के अनुरूप कार्य किया है। bjp will win uttar pradesh assembly election

अखिलेश यादव फिर से सपा के मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनेंगे, जबकि बसपा की सुप्रीमो मायावती इस पद के लिए चुनाव लड़ेगी। यूपी में सियासी राजनीति के घटनाक्रम पर एक नजर डाली जाए तो यंहा भी पंजाब चुनाव की तरह उठा-पटक देखने को मिल रहा है।bjp will win uttar pradesh assembly election

एक और जंहा बसपा का दाहिना हाथ स्वामी मौर्या अब बीजेपी में शामिल हो चुके है। वही शिवपाल यादव और नकवी को लेकर अखिलेश और मुलायम में आंतरिक मतभेद है। जबकि कांग्रेस ने एक ऐसे उमीदवार को यूपी चुनाव के लिए नामांकित किया है जो तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रह चुकी है।bjp will win uttar pradesh assembly election

योगी जी ब्राह्मण है bjp will win uttar pradesh assembly election

जी हां शीला दीक्षित को यूपी चुनाव के लिए कांग्रेस ने मुख्यमंत्री के लिए नामांकित किया है। वैसे विशेषज्ञों का मानना है कि यूपी में इस बार जातिवाद पर फैसला आएगा । इस नजरिये से देखा जाये तो कांग्रेस के रणनीति सलाहकार प्रशांत किशोर का यह फैसला काबिलेतारीफ है पर क्या केवल ब्राह्मण वोट से कांग्रेस यूपी में सरकार बनाने में कामयाब हो पायेगी ? ये विचारणीय तथ्य है। bjp will win uttar pradesh assembly election

यदि जाति के आधार पर यूपी में समाज को बांटा जाये तो यादव का वोट सपा को जाएगी, दलित का वोट बसपा को जाएगी, ब्राह्मणों का वोट कॉग्रेस जाएगी। अब बचा राजपूतों का वोट वो किस के साथ जाएगी ? आपकी सोच बिलकुल सही है। bjp will win uttar pradesh assembly election

सिद्धू के सीएम बनने के सपने पर केजरीवाल ने फेरा पानी

राजपूतों का वोट बीजेपी के साथ जाएगी। यदि माय समीकरण और दलित वोट को हटा दिया जाए तो दो तरह के लोग बच जायेंगे। पहला राजपूत और दूसरा ब्राह्मण। यदि यूपी में ब्राह्मणों की राजनीति जीवन को देखा जाये तो कोई नामचीन चेहरा नहीं है।bjp will win uttar pradesh assembly election

जबकि यूपी में राजपूतों के राजनीति परिपेक्ष को देखा जाये तो तीन चर्चित और महशूर चेहरा सामने आता है पहला कल्याण सिंह, दूसरा राजनाथ सिंह जो वर्तमान में भारत सरकार के गृह मंत्री है, तीसरा नवोदित और प्रसिद्ध नेता आदित्य योगी नाथ जी है। जिसके बारे में भ्रमित मत है कुछ लोगों का कहना है की योगी जी ब्राह्मण है तो कुछ लोगों का कहना है की योगी जी राजपूत है।bjp will win uttar pradesh assembly election

यूपी में कमल खिलेगा bjp will win uttar pradesh assembly election

ऐसे में एक बात तो तय है की योगी जी के नाम पर दोनों वर्गो से वोट मिलना तय है। इसके अतिरिक्त हिंदुत्व के नाम पर भी बीजेपी को वोट मिलने की पूरी सम्भावना है। कुछ राष्ट्रवादी मुसलमान भी बीजेपी को ही वोट देंगे। ऐसे में केवल ब्राह्मण के वोट पर सरकार बनाना कांग्रेस के लिए मुश्किल काम है।bjp will win uttar pradesh assembly election

हालांकि, बीजेपी ने अभी घोषणा नहीं की है कि योगी बीजेपी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार होंगे। इस बात की पुष्टि स्वंय योगी जी ने की है की वो पार्टी के सभी फैसलों का सम्मान करते है जो भी दायित्व उन्हें सौपा जायेगा वो बखूबी निभायेंगे। ऐसे में यूपी में बीजेपी का यह प्लस पॉइंट है। राजनाथ सिंह जो प्रखर हिन्दू नेता के नाम से जाने जाते है उनका कद यूपी की राजनीति में सम्मानीय है। उनके नाम पर ही राजपूतों का वोट मिलना निश्चित है।bjp will win uttar pradesh assembly election

कल्याण सिंह जो की वरिष्ठ नेता है और बीजेपी पार्टी से यूपी के पूर्व सीएम रह चुके है। ऐसे में राजपूतों और ब्राह्मणों के वोट से बीजेपी कागजी तौर पर यूपी में सभी पार्टियों से आगे है ,अब देखना ये है कि शीला के कितने चाहने वाले ब्राह्मण योगी जी के वर्ण को लेकर बीजेपी को वोट देते है और हिंदुत्व का नारा जो योगी जी ने तत्काल यूपी में मजबूत की है वो बीजेपी को कितना फायदा पहुंचाती है। यदि इस दोनों का तालमेल एक साथ बीजेपी के साथ हुई तो यूपी में बीजेपी का बेड़ा पार होना तय है और के बार फिर यूपी में कमल खिलेगा।bjp will win uttar pradesh assembly election
( प्रवीण कुमार )




Web Statistics