ब्रिटेन में फिर से होगा मतदान





23 जून को ब्रिटेन में जनमत संग्रह कराया गया जिसमें ब्रिटेन की यूरोपीय संघ की सदस्य्ता को लेकर मतदान हुआ। इस मतदान में ब्रिटेन के यूरोपीय संघ में बने रहने के लिए 48% वोट पड़े वही यूरोपीय संघ से अलग होने के लिए कुल 52% वोट पड़े। Britain will held election 

जनमत संग्रह के परिणाम आने के बाद पूरी दुनिया में हलचल मच गई। इसी मद्देनजर ब्रिटेन फिर से जनमत संग्रह कराये जाने के समर्थन में है। इसके लिए एक वेबसाइट बनाई गई, जिसमें ब्रिटेन की जनता को राय देना था की यूरोपीय संघ में ब्रिटेन को बने रहना चाहिए या यूरोपीय संघ से अलग हो जाना चाहिए। Britain will held election

डेविड कैमरून को भी सत्ता से पदच्युत होना पड़ेगा Britain will held election 

इस वेबसाइट पर इतना लोड आ गया की साइट क्रैश हो गई। इस साइट को हाउस ऑफ़ कॉमन्स होस्ट कर रहा था। शुक्रवार की शाम तक इस साइट पर 2 लाख से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया। ये वो लोग थे जो ब्रिटेन को यूरोपीय संघ में बने रहने के समर्थन में है। Britain will held election 

हाउस ऑफ़ कॉमन्स के इस एक्टिविटी में भारी तादात में लोग शामिल हुए लेकिन साइट क्रैश होने के कारण लोगों का उत्साह निराशा में तब्दील हो गया। Britain will held election 

तलाक….तलाक ….तलाक

हालंकि, इसकी सम्भावना कम है कि ब्रिटेन में फिर से जनमत संग्रह कराया जाए। इस जनमत संग्रह से देश में राजनीति में बदलाव होने की सम्भावना भी बढ़ गई है। ब्रिटेन के पीएम डेविड कैमरून के आग्रह के बाबजूद ब्रिटेन की जनता ने ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने के लिए वोट किया। Britain will held election 

वैसे, ब्रिटेन की जनता ने जिस तरह से जनमत संग्रह में हिस्सा लिया। उससे एक चीज़ तो जाहिर हो जाता है कि ब्रिटेन की जनता देश में बदलाव चाहती है। ऐसे में न केवल ब्रिटेन यूरोपीय संघ से अलग हुआ है बल्कि डेविड कैमरून को भी सत्ता से पदच्युत होना पड़ेगा। Britain will held


Web Statistics