पहले कांग्रेस अब बीजेपी देश लूटने लगी है : केजरीवाल




नई दिल्ली, प्रवीण कुमार आरोपों में घिरे रहने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल हमेशा विवादों में रहकर दिल्ली की जनता से सहानभूति पाने में पीछे नहीं हटते है और इसके लिए केजरीवाल राज्य के राजस्व का भरपूर दुरपयोग कर रहे है। अगस्ता वेस्टलैंड डील मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यौरों और अदालत करवाई कर रही है। किन्तु आप की सरकार के प्रमुख केजरीवाल मोदी जी से सम्बन्धित हर कार्य में टांग अड़ाने से पीछे नहीं हटते है। इसके लिए केजरीवाल ओछी राजनीति करने से भी कुरेज नहीं करते है। congress bjp vs aap

एक और जंहा कांग्रेस ने 6 मई को प्रजातंत्र बचाओ की रैली कर अपने किये गए कारनामे पर पर्दा डालने की कोशिश की तो दूसरी और केजरीवाल ने कांग्रेस के इस नकाब को उजागर करने की कोशिश की, और जब इस रैली में दोनों पार्टी सफल नहीं हो सके तो दोनों पार्टियों की मिलीजुली प्रतिक्रिया आई कि मोदी सरकार के आदेश पर पुलिस ने उन्हें प्रदर्शन करने में व्यवधान पैदा की। केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस को ठुल्ला की संज्ञा देकर पुकारा। जबकि कांग्रेस ने इसे सविधान का हनन बताया। जिसमें कांग्रेस ने कहा कि सरकार आम जनता की आवाज को दबा रहा रही है। कांग्रेस के इस बयान पर ट्विटर पर एक कमेंट भी आया था कि प्रजातंत्र तो दो साल पहले 2014 में ही बचा लिया गया था जब कांग्रेस सत्ताहीन हुई और बीजेपी की सरकार बनी। congress bjp vs aap

केजरीवाल ने अब ताजा बयान में कहा है कि मोदी की सारी सच्चाई कांग्रेस जानती है और इसलिए कांग्रेस के इतने बड़े घोटालो में शामिल होने पर देश के प्रधानमंत्री कुछ नहीं बोल रहे है। शायद केजरीवाल के पास इन सब चीज़ो के लिए वक्त हो। किन्तु मोदी जी की राजनीति का एक ही आयाम है विकास, विकास और केवल विकास। congress bjp vs aap

केजरीवाल ने करोड़ो रूपये अगस्ता वेस्टलैंड डील मामले में खर्च किये है वो भी केवल मोदी जी के खिलाफ । इससे यह भी स्प्ष्ट हो रहा है कि केजरीवाल मोदी के खिलाफ बयान बाजी कर चर्चा में बने रहना चाहते है। पहले कांग्रेस अब बीजेपी देश को लूटने में लगी है : अरबिंद केजरीवाल congress-and-bjp-vs-aap



One thought on “पहले कांग्रेस अब बीजेपी देश लूटने लगी है : केजरीवाल

  • May 10, 2016 at 11:09 am
    Permalink

    tum kya kar rahe ho do-do bar jute khake bhi aadat nahi sudhari

Comments are closed.

Web Statistics