26/11 मुंबई हमले में कांग्रेस का हाथ




26/11 मुंबई हमले के आज तक़रीबन साढ़े सात साल हो गए है और आज भी मुंबईकर उस त्रासदी भरी रात को भुलाए नहीं भूल पा रहे है जब पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों ने मुंबई के चार अलग स्थानों पर एक साथ आतंकवादी घटना को अंजाम दिया था इस घटना में सैकड़ो लोगों की मौत हुई थी जबकि इस हमले में एटीएस के वरिष्ठ अधिकारी हेमंत करकरे सहित अनेकों पुलिसकर्मी भी शहीद हो गए थे। congress involved mumbai attack

दिन व दिन बीतने के साथ इस घटने से जुड़े कई तथ्य उजागर हुए है। इसी क्रम में समाचार पत्र टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने अपने समाचार में ये दावा किया है कि जब मुंबई में पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों ने हमला किया था उस समय भारत के गृह सचिव मधुकर गुप्ता और अन्य वरिष्ठ अधिकारी पाकिस्तान में  मेहमान बाजी का आनंद ले रहे थे। congress involved mumbai attack

टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने यह भी दावा किया है कि गृह सचिव ने मुरी के हिल स्ट्रीट में ठहरने के लिए अपने कार्यक्रम को एक दिन और बढ़ा लिया था। टाइम्स ऑफ़ इंडिया का यह खुलासा चौंकाने वाला है क्योंकि गृह सचिव के पास इसका जबाब नहीं है कि क्यों वो मुरी में एक दिन रुके थे। congress involved mumbai attack

ये बात उस समय भी उठी थी जब गृह सचिव 26 नवम्बर की वार्ता के पश्चात 27 नवम्बर तक पाकिस्तान में ठहरे थे उस समय भी ये बाते समझ नहीं आई थी कि क्यों मधुकर गुप्ता पाकिस्तान के अनुरोध को स्वीकार कर एक दिन पाकिस्तान में ठहरे। इस पर गृह सचिव मधुकर गुप्ता ने जबाब देते हुए कहा कि पाकिस्तान गृह सचिव से २७ नवम्बर को ही बात हो सकती थी। congress involved mumbai attack

हेडली ने 26/11 से जुड़े कई राज को अदालत में खोला है

यदि पाकिस्तान की नजर से देखे तो पाकिस्तान जान बूझकर भारतीय डेलिगेशन के तय तारीख को बढ़ाना चाहता था ताकि भारत का ध्यान बंटा रहे वही ऐसी सम्भावना व्यक्त की जाती है कि गृह सचिव मधुकर गुप्ता को भी इस बात का आभास था कि पाकिस्तान कोई बड़ी साजिस को रचने जा रहा है इसलिए इतनी खातिरदारी कि जा रही थी। congress involved mumbai attack

भारत मेरे पूर्वजों का घर है और मैं हाउस रेंट नहीं दूंगी : प्रियंका गांधी

कांग्रेस के उच्च अधिकारी भी इस बात से अवगत थे तभी उन्होंने गृह सचिव सहित अन्य अधिकारी को पाकिस्तान से वापस नहीं बुलाया। कांग्रेस की ये सोची समझी चाल थी क्योंकि मालेगांव बम ब्लास्ट का केस वरिष्ठ एटीएस अधिकारी हेमंत करकरे देख रहे थे और मुंबई हमले में हेमंत करकरे शहीद हो गए थे जिससे साध्वी प्रज्ञा और श्रीकांत पुरोहित के खिलाफ मालेगांव बम ब्लास्ट केस और मजबूत हो गया। congress involved mumbai attack

कांग्रेस के आलाकमान को इस बात की खबर थी कि 2009 लोकसभा चुनाव में सत्ता हासिल करने के लिए राष्ट्र के लोगो के भीतर भगवा के प्रति द्वेष भावना पैदा करें जिससे कांग्रेस को 2009 में लोकसभा चुनाव में पुनः सत्ता हासिल हो सके और कांग्रेस अपने प्रयास में सफल भी रहा। congress involved mumbai attack

पाकिस्तान ने कांग्रेस के सहयोग से मुंबई पर हमला किया और इस हमले में हेमंत करकरे और दर्जनों पुलिसकर्मी सहित सैकड़ो लोगों की जान गई थी किन्तु अब जबकि 26/11 के दोषी कसाब को फांसी दे दी गई है और वादामाफ अभियुक्त हेडली ने 26/11 से जुड़े कई राज को अदालत में खोला है तो इस कड़ी में अब कांग्रेस के हाथ होने का भी सच उजागर हुआ है।ccongress involved mumbai attack


Web Statistics