कौन मारेगा दाऊद इब्राहिम को





दाऊद इब्राहिम एक व्यक्ति नहीं बल्कि आतंक का एक पर्याय बन चूका है। इस गैंगेस्टर का जन्म इंडिया के महाराष्ट्र प्रांत के रतनगिरि जिले में हुआ। शुरू से ही महत्तवाकांक्षी दाऊद छोटे -मोटे धंधे में लगा हुआ था। dawood ibrahim encounter 

चोरी,पॉकेट मारी,डकैती,अपहरण और फिरौती में माहिर दाऊद को अपनी अंतर्राष्टीय पहचान की आवष्यकता थी। इस काम में इसका साथ दिया मुंबई की माया नगरी और पाकिस्तान की आई एस आई ने। आई एस आई इसके लिए विदेशों में सारी व्यवस्था करवाता था। dawood ibrahim encounter 

धीरे -धीरे इसे अय्यासी की आदत लगा दी गई। जो की इसका ब्रिटेन में पूरा होता था। अब ये नामी गिरामी बालीबुड की हीरोइनों को विदेश में बुलाकर वहां अपनी रात रंगीन करता था। अब इससे आगे दुनिया भर के डॉन में अपना नाम सुमार करने के चक्र में आई एस आई के इसारे पर 1993 में उसने मुंबई में ब्लास्ट करवाया। dawood ibrahim encounter 

गिरफ्तारी के डर से मक्का में छुपा जाकिर

मुंबई ब्लास्ट के बाद वह भारत छोड़कर पाकिस्तान में जा बसा। अब बॉलीवड से अपनी रंगदारी लेता और अपनी प्रॉपर्टी बनाता जाता है। आज दुनिया के कई देशों में डॉन की अकूत सम्पत्ति है। डी नाम की कम्पनी जो इनकी है।

जो इनकी फिरौती,अपहरण,सट्टेबाजी,मैच फिक्सिंग आदि का काम आज भी देख और चला रही है। दुनिया की जानी मानी पत्रिकाओं जैसे -फॉर्चूनर्स,फोबोर्स,टाइम्स आदि ने जो सर्वे किया है उसमे इनकी अकूत सम्पत्ति का ब्योरा दिया गया है। dawood ibrahim encounter 

दाऊद कब मारा जाता है dawood ibrahim encounter

द रिचेस्ट डॉट कॉम में ये कहा गया है की दुनिया के सबसे अमीर गैंगस्टरों में दाऊद की शुमार है। वह अपनी अकूत सम्पत्ति के साथ साथ पाकिस्तान की सरकार और आईएसआई के सहयोग से स्वयं को बचा पाने में सफलता अर्जित कर रहा है। dawood ibrahim encounter 

वैसे जबसे भारत में मोदी की सरकार बनी है तबसे डॉन लगातार अपना ठिकाना बदल रहा है। अजित डोभाल के हाथों पहले दिल्ली फिर पाकिस्तान में बच चुके डॉन दाऊद को अब दिन रात में कई बार अपने ठिकाने बदलने पर रहे है।

इन्हें अपनी जिंदगी अब खतरे में नजर आ रही है और सार्वजनिक रूप से कहीं भी ये शिरकत नहीं करता है। अजित डोभाल इनके पीछे हाथ धो कर पर चुके हैं। अब देखना ये है की दाऊद कब और खान मारा जाता है। वैसे सूत्रों की मानें तो अब वो दिन दूर नहीं जब इस डॉन को जहन्नुम में भेज दिया जाएगा। dawood ibrahim encounter 
( हरि शंकर तिवारी )



Web Statistics