अगले साल दिल्ली में हो सकता है फिर से विधान सभा चुनाव !




केजरीवाल सरकार के लिए गुरूवार का दिन मुसीबत बनकर आया जब आप के 21 विधायक को उनके पद से हाई कोर्ट ने बर्खास्त कर दिया। यदि दिल्ली में केजरीवाल सरकार के सीट ग्राफ को देखा जाए तो केजरीवाल सरकार ने दिल्ली चुनाव में 67 सीट जीते थे जिसमें से करीबन 30 विधायक बर्खास्त हो चुके है।  delhi assembly re election 

ऐसे में केजरीवाल सरकार के विधायकों द्वारा 1 गलती दिल्ली में केजरीवाल की सरकार को गिरा सकती है। अतः अब तो केजरीवाल के लिए do or die जैसी स्थिति पैदा हो गई है। यदि डेढ़ वर्ष में 30 विधायक आउट हो सकता है तो अगले तीन वर्ष में दिल्ली में विधान सभा चुनाव होने की पूरी सम्भावना है। delhi assembly re election 

आगे पढ़ें

हाईकोर्ट ने आज केजरीवाल सरकार को तगड़ा झटका दिया है जब हाईकोर्ट ने आम आदमी पार्टी के 21 संसंदीय विधायको की नियुक्ति रद्द कर दी। अदालत ने सुनवाई करते हुए कहा की केजरीवाल सरकार की संसदीय सचिवो की नियुक्तियां अवैध तथा असैंवधानिक हैं। कुछ दिन पूर्व ही दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली के उपराज्यपाल को दिल्ली का प्रमुख प्रशासक बता कर केजरीवाल सरकार को अर्श से फर्श पर लेकर खड़ा कर दिया था। delhi assembly re e

अगले तीन वर्ष में दिल्ली में विधान सभा चुनाव होने की पूरी सम्भावना है delhi assembly re election 

दरअसल मार्च 2015 में 21 आम आदमी विधायको को संसदीय सचिव बनाया था जिसके खिलाफ प्रशांत पटेल नाम के 1 शख्स ने राष्ट्रपति से याचिका कर आरोप लगाया था कि केजरीवाल सरकार के 21 विधायक लाभ पद पर हैं इनकी सदस्यता रद्द होनी चाहिए।

नाटकबाज अरविन्द केजरीवाल के खिलाफ धरना देंगे अन्ना हजारे

आम आदमी पार्टी के 21 विधायको ने पहले दावा किया था कि उनको विधायक सचिव के स्तर पर कोई दफ्तर नहीं दिया गया था और न ही वो किसी प्रकार से आर्थिक मदद ले रहे थे। वो निष्पक्ष रूप से अपने पद पर कार्य कर रहे थे, पर बाद में उनमे से 1 विधायक ने बताया की विधान सभा में ही उनलोगों को कमरे मिले हुए थे दफ्तर के लिए राम निवास गोयल ने यह भी बताया की यह कमरे लाभप्रद के दायरे में नहीं आते हैं।  delhi assembly re election 
.

हाई कोर्ट के फैसले के बाद अब केजरीवाल सरकार पूरी तरह से बहुमत सीट तक आकर सिमट गई है। ऐसे में यदि अब आप के विधायक ने तीन साल में कोई और गलती दोहराने की कोशिश की जो 30 विधायक ने की है तो दिल्ली में फिर से विधान सभा चुनाव होने की पूरी सम्भावना है।  delhi assembly re election 
( सलोनी पांडेय )




Web Statistics