केजरीवाल को जेल जाना पड़ेगा : मीणा





दिल्ली जल बोर्ड में हुए वाटर टैंकर घोटाले की जाँच शुरू हो गई है और इसी क्रम में जांच कर रही एसीबी अर्थात एंटी करप्शन ब्रांच के चीफ एमके मीणा ने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड में हुए टैंकर घोटाले की जाँच प्रारम्भ हो गई है। यदि इस जाँच में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल का नाम आता है तो उनपर भी करवाई होगी और जररूत पड़ी तो उनसे पूछताछ भी होगी। delhi jal board scam

आपको बता दें बीजेपी के विजेंद्र गुप्ता ने दिल्ली जल बोर्ड में हुए कथाकथित वाटर टैंकर घोटाले को सार्वजानिक किया था । विजेंद्र गुप्ता की शिकायत पर करवाई करते हुए इसकी जाँच शुरू कर दी गई है। delhi jal board scam

दिल्ली में फिर से होगा विधान सभा चुनाव

भाजपा के विजेंद्र गुप्ता ने आरोप लगाया है की दिल्ली जल बोर्ड वाटर टैंकर घोटाले जाँच में अनिमियतता बरती गई जबकि इस अनियमितता का कारण भ्रष्टाचार है जो दिल्ली सरकार ने की है।इस भ्रष्टाचार में जल माफियाओं के साथ मिलकर केजरीवाल सरकार ने 400 करोड़ का गबन किया है। जब बीजेपी ने जाँच की मांग की तो 11 महीनों तक इस पर कोई करवाई नहीं की गई, बदले में फ़ाइल को ही दबा दिया गया। delhi jal board scam

इस संदर्भ में एमके मीणा का कहना है कि बीजेपी के विजेंद्र गुप्ता ने दो शिकायत की है पहला तो वाटर टैंकर में 400करोड़ घोटाले की जाँच का जिक्र है जबकि दूसरे शिकायत में विजेंद्र गुप्ता ने कहा है कि वाटर टैंकर में हुए घोटाले की रिपोर्ट रहने के बाद भी दिल्ली सरकार ने कोई करवाई नहीं की है।मीणा ने कहा की दोनों शिकायत पर जाँच शुरू हो गई है। इस दोनों शिकायत में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल का भी नाम है। जाँच हो रही है और जिस किसी की जरुरत पड़ेगी, उससे पूछताछ की जाएगी। delhi jal board scam

केजरीवाल के बुरे दिन आ गये है delhi jal board scam

लगता है केजरीवाल के बुरे दिन आ गये है। पहले आप के 21 विधायकों पर निलम्बन की तलवार लटकी है और अब वाटर टैंकर घोटाले में केजरीवाल का नाम है। एंटी करप्शन ब्रांच के चीफ एमके मीणा के बयान से ऐसा प्रतीत होता है की जल्द ही केजरीवाल को एंटी करप्शन ब्रांच में हाजिरी लगानी होगी। वैसे केजरीवाल ने जो प्रलोभन जनता को दिया और सरकार बनाने के बाद जो दिल्ली राजस्व में लूट हो रही है। उस दृष्टिकोण से आने वाले दिनों में कई और घोटाले का भेद खुलने वाला है। delhi jal board scam

आख़िरकार झूठ और प्रपंच फैला कर सत्ता हथियाने वाले केजरीवाल के लिए अब और ज्यादा दिनों तक खुशियां मनाने का वक्त नहीं रहा क्योंकि बड़े-बुजुर्ग कहते है कि झूट का पांव नहीं होता और वो आज न कल समाज के सामने औंधे मुंह गिर ही पड़ता है।

ठीक ऐसा ही कुछ अब केजरीवाल सरकार के साथ होने वाला है जो दिल्ली में सबकुछ फ्री करवाने के नाम पर जनता से वोट लेकर सत्ता को हथिया लिया परन्तु फ्री करने की बात तो दूर जनता के मेहनत की कमाई से जमा की गयी टैक्स के पैसों से जो सरकारी खजाना भरा हुआ था उसमें तरह-तरह से सेंध लगाकर आम आदमी पार्टी के मुखिया केजरीवाल सहित तमाम विधायकों व उनके आस-पास घूमने वाले सिपह सलाहरों को कोई न कोई सरकारी पद पर बिठाकर सरकारी खजानों को लूटने का काम करते रहे है delhi jal board scam




Web Statistics